npg
विविध

कर्मचारी अन्याय के विरुद्ध अब 17 दिसम्बर को गरजेंगे शिक्षक... 15 दिसंबर तक पदोन्नति,क्रमोन्नति और वेतन विसंगति दूर करने व मंहगाई भत्ते पर निर्णय नहीं लेगी सरकार... तो छत्तीसगढ़ के शालेय शिक्षक करेंगे हड़ताल

कर्मचारी अन्याय के विरुद्ध अब 17 दिसम्बर को गरजेंगे शिक्षक... 15 दिसंबर तक पदोन्नति,क्रमोन्नति और वेतन विसंगति दूर करने व मंहगाई भत्ते पर निर्णय नहीं लेगी सरकार... तो छत्तीसगढ़ के शालेय शिक्षक करेंगे हड़ताल
X

न दे रहे 31% DA, न 14% जमा हो रहा अंशदायी,न व्याख्याताओं को मिला पदोन्नति में छूट और न ही हो रहे ट्रांसफर

रायपुर 2 दिसम्बर 2021। वेतनविसंगति,पदोन्नति,क्रमोन्नति/समयमान,महंगाई भत्ता, दिवंगत पंचायत शिक्षकों के आश्रितों की अनुकम्पा नियुक्ति,CPS में बढ़ी हुई अंशदान,ट्रांसफर पर बैन पर कुछ लोगो का ट्रांसफर, LB संवर्ग जैसे अनुचित प्रत्यय पर रोक लगाने,विभिन्न एरियर्स आदि कई मांगो को लेकर छत्तीसगढ़ के शालेय शिक्षक लगातार शासन से पत्राचार,ज्ञापन व धरना प्रदर्शन कर सरकार का ध्यान आकृष्ट कराते रहे हैं किंतु अभी तक इन मुद्दों पर कोई ठोस पहल होते नही दिख रही है,कर्मचारियों की उपेक्षा के कारण प्रदेश के समस्त शिक्षक आक्रोशित हैं और वे अब एक बड़े आंदोलन की बढ़ रहे हैं,जिसके लिए वे जाने जाते हैं।

छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष वीरेंद्र दुबे ने कहा कि प्रदेश कर्मचारियों की लगातार उपेक्षा से अब हमारा सब्र का बांध टूटने लगा है। हम लगातार शासन से गुहार लगा रहे हैं कि हमारी वेतन विसंगति,पदोन्नति,क्रमोन्नति,31%मँहगाई भत्ता, दिवंगत पंचायत शिक्षक के आश्रितों की अनुकम्पा नियुक्ति, 14%CPS अंशदान,ट्रांसफर का बैन खोलने,जैसे मांगो पर निर्णय लिया जावे किंतु सरकार ऐसा नही कर सकी है ,जिसके कारण वे अब बड़ेआंदोलन हेतु मजबूर हो रहे हैं जिसकी जवाबदेही शासन की ही होगी। हमारी मांगो पर शासन 15 दिसंबर तक पूरा नहीं करती है तो प्रदेश के समस्त शिक्षक राजधानी रायपुर में 17 दिसम्बर 2021 को अपनी आवाज बुलंद करेंगे।

महासचिव धर्मेश शर्मा,कार्यकारी अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी व प्रदेश मीडिया प्रभारी जितेंद्र शर्मा ने जानकारी दी प्रदेश के कर्मचारी और शिक्षक अपने विरुद्ध हो रहे अन्याय और उपेक्षा से हताश होकर आक्रोशित हैं,यदि उनकी मांग जल्द पूरी नही की जाती तो स्वाभाविक है यह आक्रोश एक बड़े आंदोलन को जन्म देगी।

छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ समस्त जिला मुख्यालय में 8 दिसम्बर को कलेक्टर के समक्ष मुख्यमंत्री के नाम मांग पत्र सौपेंगे जिसमे मांग पूर्ण न होने की दशा में 17 दिसम्बर 2021 को राजधानी में प्रदेश के समस्त शिक्षक एकत्रित होकर कर्मचारी अन्याय के विरोध में अपनी आवाज बुलंद करेंगे।

छत्तीसगढ़ शालेय शिक्षक संघ के समस्त राज्य,जिला व ब्लाक पदाधिकारियों ने अपील की है कि सभी शिक्षक/कर्मचारी 17 दिसम्बर को राजधानी आने हेतु अपनी तैयारियां पूर्ण कर लेवे।

Next Story