npg
विविध

भूपेश सरकार की धन्वंतरी योजना गरीबों के लिए वरदान, महासमुंद जिले में 35600 से ज्यादा ज़रूरतमंदों को क़रीब 57 लाख की दवाइयाँ मिली 26 लाख में, 31 लाख की बचत

Bhupesh Sarkar's Dhanwantari scheme is a boon for the poor, in Mahasamund district more than 35600 needy people got medicines worth about 57 lakhs for 26 lakhs, saving 31 lakhs

भूपेश सरकार की धन्वंतरी योजना गरीबों के लिए वरदान, महासमुंद जिले में 35600 से ज्यादा ज़रूरतमंदों को क़रीब 57 लाख की दवाइयाँ मिली 26 लाख में, 31 लाख की बचत
X

महासमुंद। छत्तीसगढ़ के नागरिकों को उचित मूल्य पर जेनेरिक दवाईयां एवं सर्जिकल सामान, उपलब्ध कराने के लिये धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर्स की स्थापना बीते वर्ष 2021 में आज ही के दिन की गई है। जिसे आज 20 अक्टूबर को पूरे एक साल हो गये। इन एक साल में महासमुंद ज़िले में स्थापित 6 इन धन्वंतरी मेडिकल स्टोर्स से 35646 नागरिकों को ख्याति प्राप्त कंपनियों की 56 लाख 80 हज़ार 412 रुपए बाजार मूल्य की दवाईयों पर 31 लाख 17 हज़ार 959 रूपये की छूट देते हुए लाभान्वित किया गया है। दवाईयाँ, सर्जिकल सामान कम क़ीमत पर ख़रीदा। यह योजना नहीं होती तो ख़रीदी गयी दवाइयाँ उन्हें 57 लाख 80 हज़ार रुपये की मिलती। यानी कि इन लाभार्थियों को 31 लाख रुपये की बचत हुई। जो ये बचत राशि उनके अन्य ज़रूरत के काम में आ रही है। अब तक सबसे अधिक 14875 नागरिक दवाइयाँ लेने पहुँचे। वही पिथौरा में 9129 नागरिक मेडिकल से दवाइयाँ लेने आये। तुमगांव में 5452,सरायपाली में 3271, बागबाहरा में 1812 और बसना जेनेरिक दवाईयां लेने पहुँचे।

आज महासमुंद के धन्वंतरी मेडिकल स्टोर पर दवाइयाँ लेने आए शुभम् मिश्रा ने बताया कि वह परसेटामोल टेबल, विटामिन और आयराइन की टेबल लेने आये तो उन्होंने चर्चा में बताया कि उन्हें सर्दी है मौसमी बीमारी में अन्य मेडिकल पर 400-450 की दवाइयाँ यहाँ 160-170 में मिल गयी थी। अब वह और उनके परिजन, दोस्त अन्य पड़ौसी भी बीमारी की दवाइयाँ यही से ख़रीदते है। कुछ दवाइयाँ नहीं मिल पाती पर ज़रूरत की दवाइयाँ कम क़ीमत पर मिल जाती है। वही मोहम्मद अपनी माँ के लिए दवाइयाँ लेने पहुँचे उन्होंने भी धन्वंतरी मेडिकल को ग़रीबों के लिए जीवनदायनी बताया। तो बागबाहरा की सर्दी बुख़ार से पीड़ित सावित्री साहू ने बताया कि दूसरे मेडिकल पर बहुत महँगी दवाइयाँ देते है लेकिन यहाँ वही दवाई कम क़ीमत पर मिल रही है। इससे पैसे की भी बचत हो रही है। स्टोर्स के संचालक का कहना था कि इस वर्ष मौसमी बीमारी की दवाइयाँ काफ़ी पीड़ित लोग लेने आये। जो दवाइयाँ उपलब्ध नहीं होती उन्हें बाद में लेकर उपलब्ध करा दिया जाता है ।

श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर को आज पूरे एक साल हो गये है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने पिछले साल आज ही के दिन 20 अक्टूबर को राजधानी रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय से वर्चुअल (वीडियों कांफ्रेंसिंग) के जरिए छत्तीसगढ़ में 84 श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर का शुभारम्भ किया। जिसमें ज़िला मुख्यालय महासमुंद में स्थापित धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर भी शामिल था। बाद में ज़िले के शेष 5 नगरीय क्षेत्र बागबाहरा, पिथौरा, बसना, सरायपाली और तुमगांव में खोलें गए। इस योजना के तहत इन सभी जेनेरिक मेडिकल स्टोर से उपभोक्ताओं को ब्रांडेड कम्पनियों की गुणवत्तापूर्ण दवाईयां सस्ते दर पर उपलब्ध हो रही है। सभी लाभार्थियों को औसतन 55-60 प्रतिशत कम क़ीमत पर दवा मिली।

आम जनता को दवाइयों की मैक्सिमम रिटेल प्राईस (एमआरपी) न्यूनतम 50.09 प्रतिशत और अधिकतम 71 प्रतिशत छूट का लाभ मिल रहा है। इन सभी दुकानों में 250 से अधिक प्रकार की दवाईयॉ, सर्जिकल सामग्री एवं लघु वनोपज की सामग्रियां कम कीमत पर आम जनता को उपलब्ध हो रही है। दवाईयों के होम किट और ट्रेवल किट की भी बिक्री की जा रही है। दवाईयों की होम किट की कीमत 699 रुपए है, जो इन मेडिकल स्टोर में 290 रुपए की मूल्य पर तथा ट्रेवल किट जिसकी कीमत 311 रुपए है वह 130 रुपए में उपभोक्ताओं को उपलब्ध हो रही है।

इस योजना का लाभ अधिक से अधिक लोगों तक पहुँच रहा है। इससे दवाईयों पर होने वाले खर्च का बोझ भी लोगों पर कम हो रहा है। इस योजना का संचालन नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा किया जा रहा है। यह विभाग मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना का संचालन पहले से ही कर रहा है।

Next Story