ACS की अध्यक्षता में बनेगी पांच IAS, IPSअफसरों की डिजास्टर मैनेजमेंट कमेटी, चीफ सिकरेट्री आरपी मंडल की अफसरों से दो टूक…कोई व्यक्ति भूखा न रहे, न खाद्यान्न की कमी हो

NPG.NEWS

रायपुर, 26 मार्च 2020। चीफ सिकरेट्री आरपी मंडल ने आज वीडियोकांफ्रेंसिंग के जरिये संभाग और जिले के अधिकारियों से मुखातिब हुए। अधिकारियों से उन्होंने स्पष्ट तौर पर कहा कि कोरोना संकट के दौरान प्रदेश का कोई भी व्यक्ति भूखा न रहे और न ही सूबे में खाद्यान्न की कमी हो। उन्होंने अफसरों को चेताया कि आम आदमी को किसी तरह की परेशानी नहीं होनी चाहिए। इसमें किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।


सीएस आज अपरान्ह् 3.00 बजे मंत्रालय से प्रदेश के समस्त संभागायुक्त, पुलिस महानिरीक्षक, कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, वनमण्डलाधिकारी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, आयुक्त नगर पालिक निगम, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, खाद्य अधिकारी को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से अनेक निर्देश दिए।
मुख्य सचिव ने का कि मुख्यमंत्रीजी की मंशा है कि प्रदेश में कोई भूखा न रहे तथा खाद्यान्न की कमी न हो, इसकी समुचित व्यवस्था की जाए। कोरोना वायरस के संक्रमण के रायपुर, दुर्ग राजनांदगांव तथा बिलासपुर में पॉजेटिव केश मिले है। इनके तथा इनके परिवार की पर्याप्त मानिटरिंग की जाने के निर्देश दिए गये ताकि इनसे अन्य कोई प्रभावित न हो। मुख्य सचिव ने कहा कि कोरोना वायरस के बचाव हेतु राज्य स्तर पर अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में डिजास्टर मेनेजमेंट कमेटी बनाई जावेगी, जिसमें प्रदेश स्तर के 5 अधिकारी रहेंगे। इसमें परिवहन तथा खाद्य संबंधी समस्या हेतु-डॉ. कमलप्रीत सिंह, सचिव खाद्य एवं परिवहन, स्वास्थ्य संबंधी समस्या हेतु – श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, सचिव स्वास्थ्य, साफ सफाई व्यवस्था हेतु – श्रीमती अलरमेलमंगई डी. सचिव, नगरीय प्रशासन तथा कानून एवं व्यवस्था हेतु डी.एम. अवस्थी, पुलिस महानिदेशक रहेंगे।
मुख्य सचिव ने कहा कि जो होम क्वारिंटिन में है उन पर स्टीकर लगा दिया जाए ताकि वे घर के बाहर न घूमे। यदि वे घूमेंगे तो हमे पता चल सके, इससे दूसरे लोग प्रभावित नहीं होंगे। मुख्य सचिव ने कहा कि डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधीक्षक यह सुनिश्चित करें कि हमारे प्रदेश में जो जहां है, वहीं रहेगा। गांव से मजदूरी करने के लिए प्रदेश के बाहर गये है और प्रदेश में मजदूरी करके आ रहा है, तो उसे चेक करना होगा, एवं अभी आने न पाये, ऐसी व्यवस्था करें। किसी भी स्थिति में अंतर्राज्यीय सीमा से किसी और राज्य से बस इत्यादी से लोगों का परिवहन नहीं होना चाहिए। प्रदेश में नगर निगम, नगर पंचायत तथा पंचायत स्तर सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकाने खुली रहे ताकि गांव वालों को राशन पर्याप्त मात्रा में मिल सके। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत की जवाबदारी है कि दो माह का खाद्यान्न निःशुल्क उपलब्ध कराना है।
मुख्य सचिव ने कहा कि जो लोग होम आईशोलेशन में है, जो लोग विदेशों से आ रहे है उनकी जानकारी जिला अधिकारी को दी जाए। पुलिस अधीक्षक तथा नगर निगम कमिश्नर द्वारा ध्यान रखा जाए कि लोगों को समस्या कम आये। मुख्य सचिव ने कहा कि डॉक्टर्स, पैरामेडिकल स्टाफ तथा हेल्थ वर्कर को इनकरेज किया जाए। मुख्य सचिव ने कहा कि इन्टर स्टेट बाडर से आने जाने वाली गाडियां, व्यक्तियों को चेक किया जाए। भारत सरकार द्वारा जारी गाइर्डलाईन का विशेष ध्यान रखा जाए ताकि इस संक्रमण से निजात मिल सके।
वीसी में मंत्रालय से वीडियो कान्फ्रेंसिंग में राकेश चतुर्वेदी, पीसीसीएफ, कमलप्रीत सिंह, सचिव, अन्बलगन पी, सचिव, अलरमेलमंगई डी, सचिव, रीता शांडिल्य, सचिव, निरज कुमार बन्सोड़, संचालक स्वास्थ्य, डॉ. प्रियंका शुक्ला, प्रबंध संचालक एनएचएम, एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

वीडियोकांफ्रेंसिग में डीजीपी डीएम अवस्थी, एसीएस होम एवं एसीएस टू सीएम सुब्रत साहू, सिकरेट्री हेल्थ निहारिका बारिक, लेबर सिकरेट्री सोनमणि बोरा और कमिश्नर जनसंपर्क तारण प्रकाश सिनहा चिप्स आफिस से ज्वाईन किए थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.