VIDEO : राज्यसभा से निलंबित हुए सांसदों का रात भर धरना…सुबह 8 सांसदों को चाय पिलाने पहुंचे उपसभापति हरिवंश…. मोदी ने भी की तारीफ

नई दिल्‍ली 22 सितंबर 2020। राज्‍यसभा से निलंबित आठों सांसद रातभर गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठे रहे। उन्‍हें सभापति वेंकैया नायडू ने रविवार को सदन में हंगामा करने और उपसभापति से बदसलूकी के लिए सस्‍पेंड किया था। सोमवार दोपहर से धरना दे रहे सांसदों से मिलने मंगलवार सुबह खुद डिप्‍टी चेयरमैन हरिवंश पहुंच गए। वह अपने साथ एक झोला लाए थे जिसमें सांसदों के लिए चाय थी। हरिवंश ने अपने हाथों से चाय निकाली। हालांकि विपक्षी सांसदों ने चाय पीने से इनकार कर दिया।उन्‍होंने उन सांसदों से बेहद गर्मजोशी से बात की, जिनमें से कुछ का व्‍यवहार रविवार को उनके प्रति ठीक नहीं था।

चाय की प्याली से चुनावी तूफान तक… 

राज्यसभा से निलंबित हो चुके आठ सांसद कल रात से ही धरने पर बैठे हैं. संजय सिंह, डेरेक ओ ब्रायन समेत अन्य आठ सांसदों के लिए उपसभापति हरिवंश अपने घर से चाय बनाकर पहुंचे. हरिवंश ने सभी सांसदों के लिए चाय परोसी, लेकिन धरना देने वालों ने चाय पीने से इनकार कर दिया. हरिवंश ने भरोसा दिलाया कि वो यहां उनके दोस्त हैं, उपसभापति सिर्फ सदन के अंदर हैं.
इसी के तुरंत बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट आ गया, जहां उन्होंने उपसभापति हरिवंश के व्यवहार की जमकर तारीफ की. पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘हर किसी ने देखा कि दो दिन पहले लोकतंत्र के मंदिर में उनको किस प्रकार अपमानित किया गया, उन पर हमला किया गया और फिर वही लोग उनके खिलाफ धरने पर भी बैठ गए. लेकिन आपको आनंद होगा कि आज हरिवंश जी ने उन्हीं लोगों को सवेरे-सवेरे अपने घर से चाय ले जाकर पिलाई.’

राज्यसभा से निलंबित कांग्रेस सांसद रिपुन बोरा ने बताया, ‘हरिवंश ने कहा कि वो आज यहां उपसभापति के रूप में नहीं बल्कि हमारे साथ काम करने वाले एक साथी के रूप में आए हैं. हमारी बस यही मांग है कि आज सदन में LoP को बोलने दिया जाए. LoP आज हमारे सस्पेंशन को वापिस लेने की डिमांड सदन में रखेंगे.’संसद परिसर में निलंबन के विरोध में प्रदर्शन कर रहे सांसदों को चाय पिलाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश के उदार हृदय और विनम्रता की ट्वीट कर प्रशंसा की.पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि ‘यह दिखाता है कि वह कितने विनम्र हैं और उनका दिल कितना बड़ा है.

वहीं हरिवंश ने उपराष्ट्रपति को लिखे पत्र में कहा है कि वह राज्यसभा में जो कुछ हुआ उससे बहुत दुख हुआ है. वह पूरी रात सो नहीं पाए. वह एक दिन का उपवास रखेंगे.कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने संसद में कहा कि पिछले दो दिनों में जो सदन में हुआ मुझे नहीं लगता कि उससे कोई भी खुश है…करोड़ों लोगों को जो रिप्रेजेंट करते हैं उन्हें करोड़ों लोग देखते हैं. जो लक्ष्य है यहां आने का वो तो पूरा होना चाहिए.उन्होंने कहा कि जब तक हमारे सांसदों के संस्पेंशन को वापिस नहीं लिया जाता और किसान के बिलों से संबंधित हमारी मांगों को नहीं माना जाता विपक्ष सत्र से बायकॉट करती है.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.