Delhi Violence: मृतकों की संख्या बढ़कर 10 हुई, 150 लोग घायल… पुलिस का दावा- हिंसा पर काबू पाया गया….

नईदिल्ली 25 फरवरी 2020। दिल्ली के ब्रह्मपुरी और मौजपुर इलाके में तीसरे दिन भी पत्थरबाजी और हिंसक प्रदर्शन जारी है। मंगलवार की सुबह भी कई इलाकों से उपद्रवियों के पत्थरबाजी करने की जानकारी मिली। रविवार से शुरू हुई हिंसा में अब तक एक हेड कांस्टेबल समेत 10 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं एहतियात के तौर पर पांच मेट्रो स्टेशन, जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एंक्लेव और शिव विहार बंद कर दिया गया हैं। दिल्ली पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि अब तक 11 मामले इस संबंध में दर्ज किए जा चुके हैं और हालात अब नियंत्रण में है और इलाके में धारा 144 लगाई हुई है। हालांकि स्थिति नियंत्रण में है और मैं खासतौर पर नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के लोगों से अपील करता हूं कि वो कानून को अपने हाथ में न लें।

मौतमौजपुर और ब्रह्मपुरी इलाके में आज (मंगलवार) भी पत्थरबाजी हुई। दिल्ली हिंसा में अबतक मरने वाले 10 लोगों में हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल भी शामिल हैं। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली हिंसा में अब तक 150 लोग घायल हैं। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हालात तनावपूर्ण हैं, इलाके में बड़ी तादाद में पुलिस बल तैनात है। मंगलवार सुबह-सुबह पांच मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया गया। वहीं देर रात से सुबह तक मौजपुर और उसके आस-पास इलाकों में आगजनी के 45 कॉल आए, जिसमें दमकल की एक गाड़ी पर पथराव किया गया, जबकि एक दमकल की गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया।

गृह मंत्रालय ने सभी से अफवाहों को फैलाने से रोकने की अपील की है और कहा है कि राजनीतिक दलों को पुलिस के साथ मिलकर इन अफवाहों और जनता के बीच डर को दूर करना चाहिए। गृह मंत्रालय ने मीडिया और लोगों से भी जिम्मेदारी से संवाद करने और अफवाहें फैलाने से बचने की अपील की है।

कांग्रेस नेता, रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि हम सभी से शांति बनाए रखने और दिल्ली में हिंसा के इस कृत्य की निंदा करने की अपील करते हैं। कुछ सांप्रदायिक शक्तियां, अपने राजनीतिक लाभ के लिए, धर्म का उपयोग करके मतभेद पैदा करने की दिशा में काम कर रही हैं। कांग्रेस का एक कार्यकर्ता राजधानी में शांति, कानून और व्यवस्था बनाए रखने में मदद करेगा।

 

Spread the love