राज्यसभा में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह “लद्दाख में चुनौती के दौर से गुजर रहे हैं..देश और वीर जवान इस चुनौती पर खरे उतरेंगे..सदन एक ध्वनि से सेना की बहादुरी और अदम्य साहस को सम्मान दे”

नई दिल्ली,17 सितंबर 2020। चीन मसले को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उच्च सदन को पूरे स्थिति की जानकारी देते हुए सदन को सूचित किया कि लद्दाख में देश चुनौती के तौर से गुजर रहा है।रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सदन को एक मत से सेनाओं की बहादुरी और अदम्य साहस के प्रति सम्मान प्रदर्शित करने का आग्रह किया।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा
“चीन ने पिछले कई दशकों में सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी तैनाती क्षमताओं को बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा निर्माण करने जैसी गतिविधिया की हैं। हमारे सरकार ने भी सीमावर्ती अधोसंरचना विकास के बजट को पिछले स्तर से लगभग दोगुना कर दिया है.चीनी कार्रवाई हमारे विभिन्न द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना है। चीनी सैनिकों का जमावड़ा 1993 और 1996 के सम्मेलनों में हुए समझौतों के खिलाफ है। सीमा क्षेत्रों में शांति के लिए LAC का सम्मान एवं कड़ाई से पालन करना आवश्यक है. हालांकि हमारे सशस्त्र बल इसका पूरी तरह से पालन करते हैं, लेकिन चीन की ओर से ऐसा आचरण नहीं किया गया है”

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा
“यह सच है कि हम लद्दाख में एक चुनौती के दौर से गुजर रहे हैं लेकिन साथ ही मुझे भरोसा है कि हमारा देश और हमारे वीर जवान इस चुनौती पर खरे उतरेंगे। मैं इस सदन से अनुरोध करता हूँ कि हम एक ध्वनि से अपनी सेनाओं की बहादुरी और उनके अदम्य साहस के प्रति सम्मान प्रदर्शित करें”

केंद्रीय मंत्री सिंह ने सदन से कहा
“हमारी सेनाएं सीमा पर मजबूती के साथ डटी हुई हैं. मैं सदन को आश्वस्त करना चाहता हूं कि सेनाएं अपना काम बखूबी करेंगी. मैं इस मुद्दे पर ज्यादा विस्तार से नहीं बोलना चाहता हूं और इस संवेदनशीलता को सदन समझेगा”

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

error: Content is protected By NPG.NEWS!!