UPDATE -7 दिन में 5 हाथियों का मौत मामला : CCF बड़गैय्या को धमतरी भेजा गया….बिलासपुर के सीसीएफ रायगढ़ किये गये रवाना…. 1 दिन में 2 गजराज की मौत पर वन विभाग में मचा हड़कंप…. PCCF वाइल्ड लाइफ कोरबा में कर रहे हैं कैंप

रायपुर 16 जून 2020। छत्तीसगढ़ में 7 दिन में 5 हाथियों की मौत पर हड़कंप मच गया है। हाल के दिनों में बलरामपुर और सूरजपुर में 3 हाथियों की मौत हुई थी, जबकि रायगढ़ और धमतरी में आज एक ही दिन में दो हाथियों का शव मिला है, वहीं कोरबा में एक हाथी जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा है। प्रदेश में गजराज की मौत के ब़ढ़ते आंकड़ों से सरकार करते हैं। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश इस मामले में एक्शन के मूड में हैं।

एक ही दिन में दो हाथियों की मौत के बाद मुख्यमंत्री ने वन विभाग के CCF स्तर के अफसर को मौके पर रवाना किया है। रायपुर के CCF एसएस बड़गैय्या को जहां तुरंत धमतरी रवाना किया गया है, जबकि बिलासपुर के CCF अनिल सोनी को रायगढ़ भेजा गया है। इससे पहले PCCF वाइल्ड लाइफ अतुल शुक्ला पिछले दो दिनों से लगातार कोरबा में कैंप किये हुए हैं, जहां एक हाथी जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहा है। वो दो हाथियों की मौत के बाद सूरजपुर गये थे, जहां से वापस लौटने के दौरान कोरबा की घटना सामने आ गयी, जिसके बाद वो बेहतर उपचार के लिए कोरबा में ही डटे हैं।

आज दो हाथियों की मौत 

रायगढ़ के धर्मजयगढ़ में आज एक हाथी की लाश मिली है। वहीं धमतरी में एक हाथी का बच्चा मृत मिला है। धरमजयगढ़ में हाथी की मौत करंट लगने से बतायी जा रही है, जबकि धमतरी में एक हाथी के बच्चे की दलदल में फंसकर मौत हो गयी। गरियाबंद से 21 हाथियों का दल भटककर धमतरी पहुंचा था।

वन विभाग के अफसरों पर 2 दिन पहले हुई थी कार्रवाई 

इससे पहले सरगुजा संभाग में हाथियों की मौत पर सरकार ने कड़ा एक्शन लिया था। हाथियों की मौत को लेकर अधिकारियों का असंवेदनशील रवैया और विभाग की लापरवाही को देखते हुए राज्य सरकार ने बलरामपुर डीएफ़ओ प्रणय मिश्रा को शो कॉज जारी करते हुए उनको पद से हटा दिया था, वहीं SDO के एस खूँटिया और रेंजर अनिल सिंह को निलंबित कर दिया गया था।

Spread the love