जिला पंचायत सदस्य पर हमले का आरोपी पार्षद गिरफ्तार, पंचायत सदस्य और उसके साथियों पर किया था प्राणघातक हमला

धमतरी 29 जून 2020. जिला पंचायत सदस्य पर प्राणघातक हमला करने वाले 9वें आरोपी को गिरफ्तार किया है. पकड़ा गया आरोपी फरसगांव का पार्षद है. जो कि घटना के बाद से फरार चल रहा था.आपको बता दें कि 18 जून की रात कुरुद क्षेत्र के डाभा जोरातराई रेत खदान में अवैध रेत खनन की सूचना मिली थी. जिसके बाद अवैध खनन रोकने खदान पहुंचे जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव व उसके साथियों को रेत माफियाओं और उनके गुर्गों ने बंधक बनाकर लाठी-डंडे रॉड और बेल्ट से प्राणघातक हमला किया था.

यहां तक कि उन्हें निर्वस्त्र कर आपत्तिजनक वीडियो भी बनाया गया. किसी तरह से जान बचाकर रुद्री थाना पहुंचे जिला पंचायत की शिकायत पर पुलिस ने तत्काल आरोपियों की पतासाजी शुरू कर दी थी. घटना के चंद घंटे के भीतर ही 19 जून को पंजाब, उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश के 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. इसके बाद गुर्गों के सरगना हरियाणा निवासी पूर्व सैनिक गुरबचन सिंह को किया गया. जिसके पास से जिला पंचायत सदस्य से लुटे गए मोबाइल और सोने के जेवर भी बरामद किया गया. इस घटना के बाद प्रदेश की राजनीति में भी बवाल मच गया. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह, पूर्व कैबिनेट मंत्री अजय चंद्राकर, ओपी चौधरी जैसे दिग्गज नेताओं ने खूबलाल ध्रुव से दूरभाष से चर्चा का उसकी हौसला अफजाई की.

प्रहलाद ही जिला पंचायत सदस्य को पकड़कर किनारे ले गया. उसके बाद मारपीट की घटना शुरू हुई. मामले में तीन से चार गवाहों के बयान के आधार पर प्रहलाद के मोबाइल लोकेशन की जांच की गई. जांच में लोकेशन घटना के समय रेत खदान में ही पाया गया. जिसके बाद से पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई थी. आज भखारा पुलिस ने फरसगांव पहुंचकर उसे गिरफ्तार किया. जिला पंचायत सदस्य ने आरोपी की शिनाख्त कर ली है. आरोपी को न्यायिक हिरासत में लेने न्यायालय में पेश किया जा रहा है.

खुद को मंत्री कवासी लखमा का भांजा बता रहा था आरोपी

इधर रविवार को जिला अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद आरोपी की शिनाख्त करने पहुंचे जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव ने बताया कि घटना के समय रेत खदान में मौजूद प्रहलाद कुंजाम खुद को मंत्री कवासी लखमा का भांजा बता रहा था. जो कि मारपीट और लूटपाट की घटना में पूरे समय तक शामिल था.

Spread the love