कोरोना मरीजों का सेम्पल लेने और संक्रमित क्षेत्र की सर्वे टीम को मिलेगी प्रोत्साहन राशि… कलेक्टर कौशल की पहल, कोरोना से लड़ने में लगे लोगों का बढ़ेगा मनोबल

कोरबा 03 अपे्रल 2020। एक ओर जहां पूरे विश्व में कोविड-19 वायरस का भय व्याप्त है वहीं दूसरी ओर कोरबा जिले में कलेक्टर किरण कौशल के नेतृत्व में इस वायरस को हराने के लिए अधिकारी-कर्मचारियों के दल दिन-रात लगे हैं। कोरबा शहर के रामसागर पारा में लंदन रिटर्न एक छात्र के कोरोना पाजिटिव्ह पाये जाने के बाद क्षेत्र को पूरी तरह से लाक डाउन कर दिया गया है। कलेक्टर कौशल हर समय कोरोना की रोकथाम के लिए काम करने वाले सभी अधिकारी-कमचारियों को समय-समय पर प्रोत्साहित कर रहीं हैं। इसी कड़ी में कलेक्टर कौशल की पहल पर जिला प्रशासन ने कोरोना के संदिग्ध मरीजों का सेम्पल लेने वाले मेडिकल स्टाफ और संक्रमित क्षेत्र में घर-घर जाकर सर्वे करने वाले दलों के सदस्यों को विशेष प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय लिया है।

कोरोनाा मरीजों के सेम्पल लेने वाले दल को दो हजार रूपये प्रति सेम्पल प्रोत्साहन राशि मिलेगी। कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद लॅाक डाउन किये गये इलाके में कोरोना के संक्रमण की जानकारी लेने के लिए आसपास के घरों में तत्काल सर्वे करने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किये गये हैं। इस सर्वे में लगे दलों के सभी सदस्यों को शासन द्वारा निर्धारित संख्या में निर्धारित समय में घरों का सर्वे करने पर 200-200 रूपये प्रति सदस्य के हिसाब से प्रोत्साहन राशि दी जायेगी।

इस संबंध में कलेक्टर कौशल ने बताया कि कोरोना के संदिग्ध मरीजों के गले और नाक के स्वाब के सेम्पल लेने की प्रक्रिया अत्याधिक संवेदनशील एवं जटिल है। विशेषज्ञ डाक्टर और तीन अन्य मेडिकल स्टाफ को मिलाकर जिले में कोरोना सेम्पलिंग के लिए चार लोगों का दल बनाया गया है। इस दल को कोरोना के एक संदिग्ध मरीज का सेम्पल लेने पर जिला प्रशासन द्वारा दो हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। इस हिसाब से दल के प्रत्येक सदस्य को प्रति सेम्पल पांच सौ रूपये की प्रोत्साहन राशि मिलेगी।

कलेक्टर ने यह भी बताया कि कोरोना पाजिटिव्ह मरीज से संबंधित इलाके में रह रहे लोगों की स्वास्थ्यगत जानकारी के लिए सर्वे के काम में लगे दलों के प्रत्येक सदस्य को दो सौ रूपये प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। इसी प्रकार संक्रमित व्यक्ति को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर ईलाज के लिए ले जाने वाले एंबुलेंस वाहन के चालक और उसके सहयोगी को भी दो-दो सौ रूपये प्रोत्साहन राशि दी जायेगी।

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.