कलेक्टर को कोरोना : …इस जिले के कलेक्टर और उनकी पत्नी को हुआ कोरोना …..कलेक्टरेट व सिविल सर्जन आफिस सील…. बेहतर इलाज के लिए भेजे गये जिले से बाहर

भागलपुर(बिहार) 13 जुलाई 2020। कोरोना से जुड़ी एक बड़ी खबर आ रही है। बिहार के भागलपुर के कलेक्टर को भी कोरोना हो गया है। कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद अब कलेक्टर को भागलपुर से पटना रिफर कर दिया गया है। भागलपुर के डीएम प्रणव कुमार के साथ-साथ उनकी पत्नी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आयी हैं। भागलपुर के सिविल सर्जन डॉक्टर विजय कुमार सिंह ने बताया, ’58 वर्षीय मुंदीचक निवासी और विजिलेंस के डीएसपी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।38 वर्षीय कमिश्नर के. नाजिर, 35 और 45 वर्षीय मीडियाकर्मी भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं।

मामले को देखते हुए रविवार से मंगलवार तक सिविल सर्जन कार्यालय, ओपीडी व एसएनसीयू को बंद कर दिया गया है।डीएम आवास को फिलहाल आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया गया है। सिविल सर्जन खुद मॉनिटरिंग कर रहे हैं। कई चिकित्सकों को इलाज के लिए लगाया गया है। डीएम को बेहतर इलाज के लिए पटना भेजा गया है। वह कल रात ही पटना के लिए रवाना हो गए थे। इसके बाद पत्नी और दोनों बच्चों का इलाज भागलपुर में शुरू किया गया।  डीएम कोठी पर कार्यरत कर्मचारी गोपनीय विभाग के कर्मचारी वेट एंड वॉच की स्थिति में हैं।

डीएम प्रणव कुमार में कोरोना के लक्षण मिलने के बाद जवाहरलाल नेहरू चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल में जांच कराया गया। जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनका सिटी स्कैन हुआ। उन्हें वहीं, आईसीयू में भर्ती किया जाना था । इसकी तैयारी कर ली गई थी। एक सीट को भी खाली करा लिया गया था। चिकित्सकों को बुला लिया गया था। लेकिन लोगों के मिलने जुलने की संभावना को देखते हुए उन्हें बेहतर इलाज के लिए पटना भेज दिया गया।

डीएम किसके संपर्क में आए यह अभी तक नहीं पता चला है । कहा जा रहा है कि वे लगातार लोगों से मिलजुल रहे थे ।बैठक कर रहे थे। इसी दौरान वह किसी के संपर्क में आए और कोरोना पॉजिटिव हो गए। कार्यालय में भी जिलाधिकारी आमलोगों से सभी से मिल रहे थे। साथ ही प्रतिदिन दो से तीन बैठक भी कर रहे थे। डीएम के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उनके अधीनस्थ कर्मचारी भयभीत हैं।

Spread the love