कलेक्टर-SP की छुट्टी : शराब बेचने से इनकार करने वाली कलेक्टर की छुट्टी….एसपी भी हटाये गये….हाल में विधायक से भी हुआ था कलेक्टर का विवाद….

साथ ही कलेक्टर-एसपी ने संभाली थी जिले की कमान,साथ ही हटाये गये

खंडवा 21 मई 2020। शराब बेचने के सरकार के आदेश को ठेंगा दिखाने वाली महिला कलेक्टर की छुट्टी हो गयी है। खंडवा कलेक्टर के साथ-साथ एसपी की भी हटा दिया है। हालांकि खंडवा कलेक्टर के तबादले के पीछे की कहानी कुछ और बताई जा रही है। कहा जा रहा है कि खंडवा जिले के एक एमएलए ने सीएम को चिट्ठी लिख कलक्टेर की शिकायत की थी। साथ ही चेतावनी दी थी कि अगर 2 दिनों में नहीं हटाया गया तो मैं भोपाल पहुंच जाऊंगा। कमाल की बात ये है कि एसपी और कलेक्टर ने एक साथ ही पिछले साल 2 जून को जिले में की कमान संभाली थी।

विधायक की चिट्ठी के 24 घंटे के अंदर ...

दरअसल, खंडवा जिले में दूसरी बार ऐसा हुआ है, जब कलेक्टर और एसपी का एक साथ तबादला हुआ है। शासन ने पहले 2012 बैच के एसपी शिवदयाल सिंह का तबादला किया। उनकी जगह पर 2012 बैच के ही विवेक सिंह की एसपी खंडवा के रूप में नवीन पदस्थापना की है। कुछ देर बाद ही 2010 बैच की कलेक्टर तन्वी सुन्द्रियाल के तबादले के आदेश भी जारी हो गए, तन्वी को भोपाल में पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन में कार्यपालक संचालक बनाया गया है।

अब खंडवा कलेक्टर की जिम्मेदारी पर्यटन निगम के प्रबंध संचालक अनय द्विवेदी को सौंपी गई है। वहीं कप्तान की कमान एसपी विवेक सिंह संभालेंगे। दरअसल, खंडवा में पिछले कुछ दिनों में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला है। इसका एक कारण जमाती भी रहे। लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराने में भी प्रशासन असफल रहा। इस कारण कलेक्टर और एसपी को बदला गया है। कलेक्टर सुन्द्रियाल को हटाकर कार्यपालक संचालक एप्को भोपाल पदस्थ किया है। जबकि डॉ. शिवदयाल सिंह को एसपी विवेक सिंह की जगह पर सेनानी सातवीं वाहिनी विसबल भोपाल भेजा गया है। यहां बात दें बढ़ते कोरोना संक्रमण और सारी वार्ड में हो रहे मौतों को लेकर पंधाना विधानसभा सीट से भाजपा विधायक राम दांगोरे ने कलेक्टर को हटाने की मांग की थी। सीएम को पत्र लिखकर कलेक्टर को हटाने की मांग की। इसमें कोरोना रोकथाम में लापरवाही और मौत के आंकड़े छुपाने को लेकर शिकायत की गई थी।

Spread the love