कलेक्टर रजत बंसल ने दिए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का प्रतिदिन आकस्मिक निरीक्षण करने के अधिकारियों को निर्देश….

 

धमतरी 7 फरवरी 2020  खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी अवधि के अंतिम दिनों में कोचियों/बिचैलियों द्वारा अन्य किसानों के ऋण पुस्तिका में धान विक्रय की संभावना बनी रहती है। इसके मद्देनजर कलेक्टर  रजत बंसल ने सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं, तहसीलदार, सचिव कृषि उपज मंडी समितियां और जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे अपने प्रभार क्षेत्र के धान खरीदी केन्द्रों में प्रतिदिन आकस्मिक निरीक्षण करें, ताकि पंजीकृत पात्र किसानों द्वारा धान सुगमता से विक्रय किया जा सके। साथ ही किसी प्रकार का धान उपार्जन कार्य में अनियमितता पाई जाए, तो तत्काल प्रकरण दर्ज कर नियमानुसार आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करने के भी निर्देश कलेक्टर ने दिए…

कलेक्टर रजत बंसल ने आज दोपहर स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग की बैठक लेकर सुपोषण अभियान के दायरे को विस्तारित करते हुए एनीमिया से पीड़ित महिलाओं का सर्वेक्षण करने व उनकी संख्यात्मक जानकारी प्रस्तुत कर खून में हिमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाने के लिए आवश्यक विटामिन एवं प्रोटीन प्रदान करने हेतु कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने यह स्पष्ट किया कि आंगनबाड़ी केन्द्रों में या तो गर्भवती महिलाएं या फिर शिशुवती महिलाएं ही पंजीकृत हैं। इस स्थिति में ऐसी महिलाएं छूट जाती हैं जो सुपोषण योजना के तहत पंजीकृत नहीं हैं। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले की 122 ग्राम पंचायतों में चिन्हांकित किए गए 155 आंगनबाड़ी केन्द्रों के अंतर्गत आने वाली अपंजीकृत किशोरियों और महिलाओं का सर्वे किया जाए, जिनकी आयु 15 से 49 वर्ष के बीच हो। उन महिलाओं की खून जांच कर एनीमिया और सिकलसेल की स्थिति का पता लगाया जाए, जिनमें हिमोग्लोबिन की मात्रा 9 प्रतिशत से भी कम हो। इसके पहले चरण में एनीमिया एवं सिकलसेल्स से पीड़ित महिलाओं का चिन्हांकन कर आंगनबाड़ी केन्द्र में ही प्रोटीन, विटामिन और हिमोग्लोबिन को बढ़ाने वाली खाद्य सामग्री परोसे जाएं। इसके अलावा छह माह से पांच साल तक के शिशुओं का भी पृथक् से सर्वे कर उनमें हिमोग्लोबिन की मात्रा की जांच कर हेल्थ पैरामीटर तैयार कर उन्हें सामान्य स्थिति में लाने के लिए आवश्यक भोजन एवं खाद्य सामग्री प्रदान करने के लिए निर्देशित किया। बैठक में सभी विकासखण्ड के बी.पी.एम. एवं महिला बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी उपस्थित थे।

Spread the love