कोलइण्डिया चेयरमेन प्रमोद अग्रवाल ने कहा- देश की कोयला आवश्यकताओं को पूरा करना हमारी प्राथमिकता है..

रायपुर 21 अगस्त 2020. कोयला, ऊर्जा का प्रमुख स्त्रोत होने के कारण प्रतिदिन इसकी मांग बढ़ रही है। इस बढ़ती मांग की पूर्ति करने के लिए हमारी यह जिम्मेदारी है कि हम निर्धारित कोयला उत्पादन को समयबद्ध तरीके से हासिल करें।- उक्त उद्गार कोलइण्डिया चेयरमेन प्रमोद अग्रवाल (आईएएस) ने एसईसीएल प्रशासनिक भवन में समीक्षा बैठक के दौरान कहे।
कोलइण्डिया चेयरमेन प्रमोद अग्रवाल (आईएएस) 20 एवं 21 अगस्त 2020 को एसईसीएल प्रवास पर थे। अपने प्रवास के प्रथम दिन उन्होंने एसईसीएल के गेवरा, दीपका, कुसमुण्डा खदानों का निरीक्षण किया तथा भविष्य की योजनाओं के बारे में जानकारी ली। दूसरे दिन उन्होंने एसईसीएल के शीर्ष प्रबंधन के साथ भेंट की, पश्चात क्षेत्रवार कोयला उत्पादन-उत्पादकता, प्रेषण की समीक्षा की। इस समीक्षा बैठक के दौरान एसईसीएल के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक एपी. पण्डा, निदेशक (कार्मिक) डाॅ आरएस झा, मुख्य सतर्कता अधिकारी बीपी शर्मा, निदेशक तकनीकी (संचालन)आरके निगम, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एमके प्रसाद एवं निदेशक (वित्त) एसएम चौधरी उपस्थित थे। इस बैठक में महाप्रबंधक गेवरा क्षेत्र एसके पाल, महाप्रबंधक दीपका क्षेत्र डीके चन्द्राकर, महाप्रबंधक कुसमुण्डा क्षेत्र रंजन पी. शाह, महाप्रबंधक कोरबा क्षेत्र एनके सिंह भी व्यक्तिशः उपस्थित थे एवं शेष 9 क्षेत्रों के महाप्रबंधकों से विडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक लिए।

बैठक के दौरान कोलइण्डिया चेयरमेन ने कारगर प्रणाली अपनाने, योजनाबद्ध तरीके से समय पर कार्य पूर्ण करने, कान्ट्रेक्ट आदि का समय पर नियोजन करने एवं इस पूरी प्रक्रिया में इन्फार्मेशन टेक्नाॅलाॅजी के इस्तेमाल करने पर जोर दिया। उन्होंने सभी से आग्रह किया कि वे तय योजना पर नियमबद्ध तरीके से कार्य करते हुए त्वरित क्रियान्वयन करें। उन्होंने श्रमशक्ति व उपकरणों का उचित सामंजस्य बिठाकर समय के पूर्व अपना उत्पादन लक्ष्य हासिल करने का आव्हान किया। एसईसीएल अपने स्थापना काल से ही कोलइण्डिया की सर्वाधिक कोयला उत्पादक कम्पनी रही है इस बात का जिक्र करते हुए उन्होंने एसईसीएल की उत्कृष्ट कार्यसंस्कृति की प्रसंशा की।
क्षेत्रीय महाप्रबंधकों की समीक्षा बैठक के उपरांत दोपहर बाद उन्होंने एसईसीएल के विभागाध्यक्षों की समन्वय बैठक ली। इस बैठक में उन्होंने विभागों के कार्य एवं भविष्य की योजनाओं के बारे में जानकारी ली एवं इन योजनाओं के समुचित क्रियान्वयन का सुझाव दिया। बैठक उपरांत उन्होंने रायपुर के लिए प्रस्थान किया।

Spread the love