CM भूपेश का दिलचस्प जवाब : वैक्सीन की विश्वसनीयता के लिए क्या नेताओं को लगवाना चाहिये वैक्सीन ? या फिर हेल्थ वर्करों को ही लगाना चाहिये… मुख्यमंत्री ने दिया ये जवाब ….

रायपुर 12 जनवरी 2021। ये तो फाइनल हो चुका है कि कोरोना वैक्सीन देश भर में पहले हेल्थ वर्करों को लगाया जायेगा। खुद प्रधानमंत्री मोदी भी इसे पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं। बावजूद कोरोना वैक्सीन लगाने को लेकर सियासी बयानबाजी थम नहीं रही है। वैक्सीन को लेकर चल रही बयानबाजी के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा ही दिलचस्प जवाब आयाहै। दुर्ग-भिलाई के दौरे पर रवाना हुए मुख्यमंत्री ने एस सवाल के जवाब में कहा है कि वैक्सीन की विश्वसनीयता को लेकर अगर वैक्सीन नेताओं को लगाने की बात चल रही है कि दिल्ली से इसकी शुरुआत होनी चाहिये। दिल्ली में प्रधानमंत्री हैं, अगर राज्य में आये तो मुख्यमंत्री है।

दरअसल कांग्रेस और विपक्ष लगातार इस बात की डिमांड कर रहे हैं कि वैक्सीन की विश्वसनीयता साबित करने केलिए पहले प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के शीर्ष नेता व केंद्रीय नेताओं को वैक्सीन लगाना चाहिये।

वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने कल राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में साफ कहा है कि नेता वैक्सीन लगाने की जल्दबाजी ना करें, नेताओं को वैक्सीन के लिए अपनी बारी का इंतजार करे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जब ये पूछा गया कि इनमें से कौन सही है, तो उन्होंने जवाब में बताया कि दोनों अपनी-अपनी जगह सही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की विश्वसनीयता के लिए अगर कहा जा रहा है कि नेताओं को वैक्सीन लगाना चाहिये, तो ये भी सही है। दिल्ली में अगर बात करें तो प्रधानमंत्री और अन्य हैं, राज्य में आईये तो मुख्यमंत्री हैं…सब मिलाकर 60-70 लोग होंगे लगाना चाहिये सबको टीका।

लेकिन प्रधानमंत्री ने कहा है कि पहले हेल्थ वर्करों को दिया जाना चाहिये। ये भी सही है कि जो ज्यादा जरूरतमंद है उसे वैक्सीन दिया जाना चाहिये। इसलिए प्रधानमंत्री जी ने जो कहा है वो भी सही है।

Spread the love