कृषि विधेयक को लेकर केंद्र पर बरसे सीएम भूपेश “यह काला क़ानून है.. कृषि राज्य का विषय है..कृषि पर निर्णय विधान मंडल का है..यह असंवैधानिक है..”

रायपुर,27 सितंबर 2020। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र के द्वारा पारित कृषि विधेयकों को काला क़ानून बताते हुए इसे संघीय व्यवस्था पर कुठाराघात बताया है। मुख्यमंत्री बघेल ने इसे वापस लेने की माँग की हैं।
CM भूपेश बघेल ने आरोप लगाया

“यह संघीय व्यवस्था पर कुठाराघात है..केंद्र और राज्य के विषय अलग हैं.. कृषि विशुद्ध रुप से राज्य का विषय है.. कृषि पर निर्णय विधान मंडल का है..विधानसभा में प्रस्ताव लाएँगे.. और जरुरत पड़ी तो अदालत भी जाएंगे”

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरोप लगाया

“हवाई अड्डा और रेल्वे स्टेशन को बेचने के बाद अब किसान और उसकी ज़मीन पर नज़र है..मुझे नागपुर में पता लगा कि बड़े उद्योगपतियों ने वहाँ बहुत बड़े बड़े गोदाम ले लिए हैं.. गोदाम बनाए जा रहे हैं किराए पर ले रहे हैं..ये मनमर्ज़ी रेट तय करेंगे.. किसानों के बैंक सहकारी बैंक नहीं रह जाएंगे”

CM भूपेश बघेल ने कहा

“मोदी जी क़ानून बनाएँ कि यदि समर्थन मूल्य से कम ख़रीदी हो तो अपराध दर्ज होगा..स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट लागू करें.. किसानों की आय दूगनी करनी है तो समर्थन मूल्य बारह प्रतिशत यस बढ़ाना चाहिए”

Get real time updates directly on you device, subscribe now.