Begin typing your search above and press return to search.

Raigarh News: सरस्वती साइकिल योजना से बेटियों की शिक्षा की राह हुई आसान

Raigarh News: राज्य सरकार बेटियों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के साथ ही स्कूलों से उनकी दूरियां मिटाने का कार्य सरस्वती साइकिल योजना के माध्यम से कर रही है।

Raigarh News: सरस्वती साइकिल योजना से बेटियों की शिक्षा की राह हुई आसान
X
By Kapil markam

Raigarh News: राज्य सरकार बेटियों को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के साथ ही स्कूलों से उनकी दूरियां मिटाने का कार्य सरस्वती साइकिल योजना के माध्यम से कर रही है। जिससे आज बेटियां शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ रहीं है। इससे बालिकाओं के शिक्षा में बाधा बनने वाली दूरियां तो दूर हुई है, साथ ही बालिकाओं के स्कूल छोडऩे की दर में भी कमी आई है।

योजनान्तर्गत शासकीय स्कूलों में कक्षा 9वीं में अध्ययनरत बालिकाओं को सरस्वती साइकिल योजना के माध्यम से नि:शुल्क साइकिल वितरण की जाती है। जिसका मुख्य उद्देश्य दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों में बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा के साथ ही परिवहन सुविधा उपलब्ध करना है। इसी क्रम में हेमसुंदर गुप्त शासकीय उत्कृष्ट हिंदी माध्यम विद्यालय, महापल्ली में कक्षा 9 वीं के 55 छात्राओं को सरस्वती सायकल योजना के तहत नि:शुल्क सायकल वितरण किया गया।

प्राचार्य जे.सुजाता राव ने कहा कि योजना के माध्यम से बड़ी संख्या में छात्राओं को लाभ मिल रहा है। इससे दूर-दराज से स्कूल आने वाली छात्राओं को अब काफी सहूलियत हो रही है। इससे पढ़ाई-लिखाई में कोई परेशानी नहीं होगी और छात्राओं के शैक्षणिक विकास में बढ़ोतरी होगी। इस अवसर पर सुकलाल चौहान, पत्रकार श्री शेष चरण गुप्त उपस्थित रहे।

कोटमार की कु.वर्षा राठिया ने कहा कि स्कूल जाने के लिए प्रतिदिन सहायता की जरूरत पड़ती थी, लेकिन अब स्वयं का साइकिल होने से स्कूल आने में आसानी होगी। ग्राम-कुकुर्दा की कु.सुनैना निषाद ने कहा कि उनके गांव कुकुर्दा से स्कूल की दूरी की वजह से स्कूल पहुंचने में काफी समय लग जाता था। लेकिन अब साइकल मिलने से समय की बचत होगी, जिसका उपयोग मैं अपनी पढ़ाई में लगाऊंगी।



Kapil markam

कपिल मरकाम बिलासपुर चौकसे इंजिनियरिंग कॉलेज से ग्रेजुएट करने के बाद पत्रकारिता को पेशा बनाया। वर्तमान में NPG.NEWS से जुड़े हुए है। मूलतः मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा के रहने वाले हैं।

Read MoreRead Less

Next Story