comscore

छत्तीसगढ़ मौत के मामले में छठे नंबर पर….. 24 घंटे में 4,092 लोगों की मौत भी हुई…..देश में फिर मिले 4 लाख से ज्यादा कोरोना संक्रमित…..

नई दिल्ली 9 मई 2021।

छत्तीसगढ़ में मरीजों का आंकड़ा कम तो हुआ है, लेकिन मौत का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। छत्तीसगढ़ में हर दिन औसत 200 से 250 मौतें हो रही है। छत्तीसगढ़ मौत के मामले में अभी भी देश में छठे स्थान पर है। संक्रमण से पिछले 24 घंटे में जिन 4,092 और लोगों की मौत हुई है, उनमें से महाराष्ट्र में 864, कर्नाटक में 482, दिल्ली में 332, उत्तर प्रदेश में 297, तमिलनाडु में 241, छत्तीसगढ़ में 223, पंजाब में 171, राजस्थान में 160, हरियाणा में 155, झारखंड में 141, पश्चिम बंगाल में 127, गुजरात में 119 और उत्तराखंड में 118 लोगों की मौत हुई है।

देश में एकबार फिर से पिछले 24 घंटों के दौरान मिले नए कोरोना संक्रमितों की संख्या 4 लाख का आकंड़ा पार कर गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 4 लाख 3 हजार 738 नए मरीज सामने आए हैं, जबकि इस बीमारी ने 4092 बीमारियों की जान ले ली है। पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण को मात देने वालों की संख्या भी अच्छी रही है। 3 लाख 86 हजार 444 मरीज कोरोना संक्रमण से उबरने में सफल रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अबतक 2 करोड़ 22 लाख 96 हजार 414 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। इन लोगों में से 1 करोड़ 83 लाख 17 हजार 404 मरीज कोरोना संक्रमण को मात देने में सफल रहे हैं। कोरोना बीमारी अबतक 2 लाख 42 हजार 362 मरीजों की जान ले चुकी है। इस वक्त देश में एक्टिव केसों की संख्या 37 लाख 36 हजार 648 है। बात अगर वैक्सीनेशन की करें तो अब तक देश में कोरोना वैक्सीन की 16 करोड़ 94 लाख 39 हजार 663 डोज लगाए जा चुके हैं।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुताबिक, आठ मई तक 30,22,75,471 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से 18,65,428 नमूनों की जांच शनिवार को की गई।  देश में अब तक 2,42,362 लोगों की मौत संक्रमण से हुई है, जिनमें से महाराष्ट्र में 75,277, दिल्ली में 19,071, कर्नाटक में 18,286, तमिलनाडु में 15,412, उत्तर प्रदेश में 15,170, पश्चिम बंगाल में 12,203, छत्तीसगढ़ में 10,381 और पंजाब में 10,315 लोगों की मौत हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि जिन मरीजों की मौत हुई है, उनमें से 70 प्रतिशत से अधिक मरीज अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थे।

Spread the love