fbpx

चंदन कुमार मण्डल ने एनटीपीसी में डायरेक्टर काॅमर्शियल का पदभार संभाला, कई बिजली परियोजनओं को मूर्त रूप देने का तजुर्बा, 35 बरसों से एनपीटीसी से जुड़े हुए हैं

NPG.NEWS

नई दिल्ली, 1 अगस्त, 2020। चंदन कुमार मण्डल ने आज एनटीपीसी में डायरेक्टर (काॅमर्शियल) का पदभार संभाल लिया। मण्डल एनटीपीसी के साथ 35 वर्षों से अधिक समय से जुड़े हुए हैं और उन्होंने कई व्यावसायिक इकाइयों में अनेक प्रमुख नेतृत्व पदों पर कार्य किया है।
श्री मण्डल 1984 में 9 वें बैच के कार्यकारी प्रशिक्षु (ईटी) के रूप में एनटीपीसी ज्वाईन किए थे। उन्हें बिजली क्षेत्र का विस्तृत अनुभव और व्यापक ज्ञान है और उन्होंने बिजली संयंत्र और कॉर्पोरेट कार्यों दोनों में काम किया है। उन्होंने रामागुंडम में 3500 मेगावाट इकाइयों और खलगाँव में 4210 मेगावाट इकाइयों की परियोजना के निष्पादन और इन्हें शुरू करने के साथ अपनी यात्रा शुरू की।
श्री मण्डल ने एक रणनीतिक योजनाकार के रूप में एनटीपीसी में कई पहल की हैं। 1998 में श्री मण्डल कॉर्पोरेट कामर्शियल में ज्वाईन किए, जहाँ उन्होंने वाणिज्यिक और विपणन रणनीतियों को विकसित करने, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय पावर परचेज एग्रीमेंट्स (पीपीए) को निष्पादित करने, सीईआरसी के साथ टैरिफ विनियमों के निर्माण, अल्ट्रा मेगा पावर प्लांट (यूएमपीपी) बोली में भागीदारी आदि के लिए काम किया। श्री मण्डल भारत सरकार से भी जुड़े रहे, जहाँ उन्होंने विद्युत अधिनियम 2003, राष्ट्रीय विद्युत नीति, शुल्क नीति और प्रतिस्पर्धात्मक बोली दिशा-निर्देशों सहित विभिन्न नीतियों और विधियों के निर्माण के लिए एनटीपीसी का प्रतिनिधित्व किया।
वे 2012 में कॉर्पोरेट प्लानिंग में स्ट्रेटेजिक प्लानिंग डिवीजन के प्रमुख के रूप में शामिल हुए और समय-समय पर बिजनेस प्लान की समीक्षा करना, संगठनात्मक पुनर्गठन, कंपनी के जोखिमों की पहचान करने और काॅम्प्रेहंेसिव एंटरप्राइज रिस्क मैनेजमेंट नीतियों आदि के माध्यम से इन्हें दूर करने की जिम्मेदारी भी उन्होंने निभाई। श्री मण्डल ने मार्च-2015 में खरगोन में बिजनेस यूनिट के प्रमुख के रूप में कार्यभार संभाला। इस दौरान उन्होंने 1320 मेगावाट की ग्रीन फील्ड पावर परियोजना के निष्पादन का दायित्व संभाला, जिसमें भूमि अधिग्रहण, उपयोग का अधिकार, रास्ते का अधिकार, आर एंड आर प्लान, प्रोजेक्ट प्लानिंग और कंस्ट्रक्शन, स्थानीय प्रशासन, राज्य सरकार और अन्य वैधानिक प्राधिकरणों के साथ बाउंड्री मैनेजमेंट की जिम्मेदारी भी शामिल है।
डायरेक्टर (काॅमर्शियल) के रूप में उनकी नियुक्ति से पहले, उन्होंने आरईडी-डब्ल्यूआर1, आरईडी (डीबीएफ एंड हाइड्रो), ईडी (पीपी एंड एम) और ईडी (काॅमर्शियल) के रूप में भी काम किया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.