npg
ब्यूरोक्रेट्स

पुलिस मेला रूबरू यातायात जागरूकता सप्ताह का हुआ आगाज, ट्रैफिक नियमों की जानकारी के साथ ही कई सुविधाएं भी, सुरक्षा से जुड़े कई स्टॉल्स

पुलिस मेला रूबरू यातायात जागरूकता सप्ताह का हुआ आगाज, ट्रैफिक नियमों की जानकारी के साथ ही कई सुविधाएं भी, सुरक्षा से जुड़े कई स्टॉल्स
X

बिलासपुर। बिलासपुर पुलिस ने पुलिस मेला रूबरू एवं यातायात जन जागरूकता सप्ताह का सँयुक्त आयोजन किया है जिसका आज पुलिस ग्राउंड से आगाज किया गया है। इससे पहले बाइक रैली निकाली गई। आयोजन के माध्यम से बिलासपुर पुलिस दुर्घटनाओं से बचाव हेतु यातायात जागरूकता सप्ताह चलाएगी। साथ ही लर्निंग लाइसेंस, वाहन इंश्योरेंस व आरटीओ से जुड़े कामों के लिए भी स्टॉल लगाए गए हैं। रूबरू कार्यक्रम के माध्यम से नागरिकों को आपातकालीन परिस्थितियों में खुद को बचाने का ज्ञान भी दिया जाएगा।

आज इस कार्यक्रम की शुरुवात अरपा रिवर व्यू से भव्य बाइक रैली निकाल कर की गई। रैली को हेलमेट रैली नाम दिया गया था। रैली में शामिल सभी जवान हेलमेट पहन कर शहर के चौक चौराहों से गुजर कर लोगों को यह संदेश दे रहे थे कि दुर्घटना होने की स्थिति में जीवन के बचाव के लिए हेलमेट कितना जरूरी है। क्योकि सड़क दुर्घटनाओं में अधिकतर मौते सिर में चोट लगने से ही होती है। शहर के मुख्य चौक चौराहों से होते हुए यह रैली मुख्य आयोजन स्थल पुलिस ग्राउंड में आकर खत्म हुई।

आज से शुरू हुए जागरूकता सप्ताह के पहले दिन पुलिस ग्राउंड लोगों से पटा हुआ नजर आया। दूर दूर से यहां लोग पहुँचे थे। यहां पुलिस के अलावा सुरक्षा से जुड़े अन्य बलों जैसे आरपीएफ, सीआरपीएफ, सीआईएसएफ, सीएएफ़, अग्निशमन व होमगार्ड के स्टॉल लगे थे। स्टॉल में इन बलों के कार्यों की जानकारी दी गई थी। साथ ही इनके द्वारा प्रयोग किये जाने वाले आधुनिक हथियारों व इक्विपमेंटस की भी जानकारी दी गई थी। फॉरेंसिक के लगे स्टॉल में एक्सपर्ट साक्ष्य संकलन की विधि की जानकारी प्रस्तुत कर रहे थे। तो वही नगर सेना द्वारा आपदा प्रबंधन एवं अग्निशमन से जुड़ी जानकारी दी जा रही थी। फायर सेफ्टी के स्टॉल में सबसे ज्यादा भीड़ देखने को मिली। यहां पहुँची जनता आग लगने पर खुद के बचाव की जानकारी एक्सपर्ट्स से लेते दिखे।

इसके अलावा लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस,वाहनों के जनरल इंश्योरेंस का महत्व व वाहनों से धुआं उत्सर्जन की जानकारी देने के अलावा लर्निंग लाइसेंस के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया के अलावा लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया भी समझाई जा रही है। साइबर जागरूकता,साइबर सुरक्षा, महिला सुरक्षा, महिलाओं के अधिकारों की जानकारी देने के लिए स्टॉल अलग से लगाए गए हैं। मेले में बच्चों के आकर्षण हेतु विभिन्न मनोरंजक खेलों के अलावा चिल्ड्रेन्स पॉइंट बनाने के साथ ही स्वादिष्ट व्यंजन भी रखे गए हैं।

सबसे शानदार मॉडल लोयला स्कूल का, रेलवे ने भी प्रदर्शित किए शानदार स्ट्रुमेंट:-

कई स्कूलों व कालेजों के विद्यार्थियों ने भी अपने अपने स्कूल के मॉडल प्रस्तुत किये थे। जिनमें लोयला स्कूल का मॉडल सबसे शानदार रहा। यहां के बच्चों ने एक ऐसा डिवाइस बनाया है जो नो पार्किंग एरिया में खड़े गाड़ियों को ट्रेस कर लेगी और इसकी जानकारी ट्रैफिक पुलिस के कंट्रोल रूम को देगी। जिससे ट्रैफिक पुलिस उस वाहन को हटवाने के अलावा उस पर चालानी कार्यवाही भी कर सकेगी। इसी तरह रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स ने ड्रोन कैमरा, के अलावा छुपे हुए विस्फोटकों की तलाश के लिए इस्तेमाल होने वाले मशीन वेपर ट्रेसर व कमरों के अंदर की पिक्स लेने के लिए इस्तेमाल होने वाले रियल टाइम वीविंग मशीन, रिमोट कटर वायर तथा बड़े रेलवे स्टेशन में एक जगह से दूसरी जगह आने जाने वाले स्कूटर का प्रदर्शन किया। अन्य अर्धसैनिक बलों ने भी अपने अपने अस्त्र- शस्त्रों का प्रदर्शन किया।

कार्यक्रम में नुक्कड़ नाटक यमराज व चित्रगुप्त के संवाद का प्रदर्शन किया गया। इसके साथ ही भारत माता, ड्रीमलैंड स्कूल व डीपी विप्र कॉलेज के एनएसएस में शामिल छात्र-छात्राओं ने मनमोहक नृत्य प्रस्तुतियां दी। ड्रीमलैंड स्कूल की छात्राओं ने जब मानव पिरामिड बनाया तब कार्यक्रम स्थल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज गया। डीपी विप्र कॉलेज की छात्राओं ने लगातार कई फिल्मी गानों पर प्रस्तुति दी।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कमिश्नर संजय अलंग थे। अध्यक्षता रेंज आईजी रतन लाल डांगी कर रहे थे। इसके अलावा कलेक्टर सौरभ कुमार आरपीएफ आईजी एएम सिन्हा, सीआरपीएफ के डीआईजी लक्ष्मीकांत मिश्रा, व बिलासपुर यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉक्टर आलोक चक्रवाल भी कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान कमिश्नर संजय अलंग ने कहा कि "मेला एक बहुत सशक्त माध्यम हैं जो जनता को संप्रेषित करने के लिए यातायात से संबंधित उपायों को उससे संबंधित जानकारियों को, व विधियों को पहुँचाने की विधि है। बिलासपुर पुलिस का यह अभियान बहुत ही सराहनीय हैं, जिसमें लोगों को बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेना चाहिए और फायदा उठाना चाहिए।"

रेंज आईजी रतनलाल डांगी ने कहा कि"एसएसपी बिलासपुर के द्वारा एक रूबरू कार्यक्रम के तहत एक इनोवेटिव आइडिया के तहत रूबरू कार्यक्रम आयोजित किया गया है, जिससे जनता व पुलिस के बीच तालमेल बढ़ेगा। साथ ही पुलिस ट्रैफिक,बीमा के अलावा बच्चों के लिए भी अच्छा माहौल तैयार किया गया है।इससे लोगो को तो फायदा मिलेगा ही साथ ही जनता का पुलिस से समन्वय भी स्थापित होगा"

वरिष्ठ पुलिस उपमहानिरीक्षक सह एसएसपी पारुल माथुर ने कहा कि " एक दिवसीय पुलिस मेला रूबरू का आज आयोजन किया गया है, इसके अलावा एक सप्ताह के ट्रैफिक जागरूकता सप्ताह की भी शुरुवात की गई है। मेले में पुलिस विभाग के सभी अंगों के स्टॉल लगाए गए हैं, जिसमें सायबर जागरूकता,महिला सुरक्षा के अलावा पुलिस लाइन के संसाधनों की प्रदर्शनी लगाई गई है। इसके अलावा अर्धसैनिक बलों, जेल,फारेंसिक व विधिक सहायता के भी कैम्प लगाए गए हैं जहां जनता जाकर इन विभागों के बारे में जानकारी ले सकती है। कार्यक्रम लो पारिवारिक माहौल देने के लिए फूड और गेम्स का भी आयोजन किया गया है। लगातार एक सप्ताह तक लर्निंग लाइसेंस व बीमा कैम्प लगाया जाएगा।"

यह आयोजन 18 से 24 सितंबर तक प्रातः 11:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक प्रतिदिन पुलिस परेड मैदान में तय किया गया है।

दिनांक 19 सितंबर को सीपत रोड में ट्रक, ट्रेलर भारी वाहन चालक/ परिचालक का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा । स्कूली बच्चों के लिए यातायात सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता और पोस्टर पेंटिंग समेत स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन होगा ।

दिनांक 20 सितंबर को महाविद्यालय स्तर के छात्रों के लिए संगोष्ठी "मेरे सपनों का शहर बिलासपुर कैसा हो" और स्कूल स्तर के बच्चों के लिए वाद-विवाद प्रतियोगिता,शहर के चौक चौराहों पर भारत माता स्कूल के बच्चों द्वारा नुक्कड़ नाटक का मंचन होगा ।

दिनाँक 21 सितंबर 2022 को पेट्रोल ऑटो चालकों का स्वास्थ्य परीक्षण स्थानीय रेलवे स्टेशन में साथ ही, नुक्कड़ नाटक का आयोजन, जिले के चिन्हित गुडसेमेरिटन एवं यातायात आयोजन समिति के सदस्यों का सम्मान कार्यक्रम आयोजित होगा

दिनांक 22 सितंबर 2022 को रायपुर रोड स्थित गुंबर पेट्रोल पंप में ट्रक ट्रेलर भारी वाहन चालक/परिचालक का स्वास्थ्य परीक्षण, साथ ही परिवहन विभाग एवं यातायात पुलिस द्वारा क्रमशः कोनी रोड एवं भोजपुरी रायपुर रोड में भारी वाहन चालकों के लिए जागरूकता कार्यक्रम चलाया जाएगा।

23 सितंबर को स्थानीय हाईटेक बस स्टैंड में निजी बस मालिक संघ के चालक एवं परिचालकों सहित रायपुर रोड पर चलने वाले ऑटो चालकों का स्वास्थ्य परीक्षण साथी स्कूल स्तरीय ग्रुप डांस प्रतियोगिता का आयोजन एवं पुलिस मुख्यालय के समन्वय से रायपुर की टीम द्वारा "सुरक्षित चले स्कूल हम" कार्यक्रम का आयोजन होगा, जो कि यातायात पुलिस छत्तीसगढ़ के प्रतिनिधित्व में एक "विशेष" जागरूकता अभियान है,जिसमें स्कूल बस चालको एवं प्रबंधन को ट्रेनिंग वर्कशॉप तथा यातायात पुलिस द्वारा नियमों की जानकारी दी जाएगी।*

दिनांक 24 सितंबर 2022 को प्रातः 6:00 बजे से स्थानीय अरपा रिव्हर व्यू से "वॉक-थलान" कार्यक्रम का आयोजन होगा। जिसमें माध्यम से लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने का प्रयास होगा।

24 तारीख को ही संध्या 6:00 बजे से यातायात जागरूकता सप्ताह का समापन कार्यक्रम स्थानीय पुलिस मैदान में होगा, इस अवसर पर बिलासपुर पुलिस द्वारा सभी प्रतियोगिताओं में प्रथम,द्वितीय स्थान पाने वाले बच्चों को सम्मानित किया जाएगा ।

आज लगे स्टॉल्स की जानकारी:-

➖सी0आर0पी0एफ0 की जानकारी- बल संरचना, गठन केंद्र, प्रशिक्षण कार्यप्रणाली कोबरा बटालियन तथा अन्य पुलिसिंग एवं अन्य सामुदायिक पुलिसिंग व हथियारों की जानकारी।

➖आर0पी0एफ0- संरचना, इस्तेमाल में लायी जाने वाली नयी तकनीकें, बम डिस्पोज़ल व बैगेज सकेनर,डॉग स्कॉड,रेल सम्पति की सुरक्षा

➖विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जनता को प्राप्त विधिक सेवा व अधिकारो एवं कानूनों की जानकारी

➖ नगर सेना- अग्नि शमन के प्रकारों की प्रदर्शिनी व उनका डेमो।एस॰डी॰आर॰एफ॰ द्वारा आपदा प्रबंधन की जानकारी

➖ 2री बटालीयन सकरी - संगठन की जानकारी,प्रशिक्षण व नक्सल गतिविधि में भूमिका साथ ही हथियारों की जानकारी व उनके कार्यक्षेत्र

➖ ACCU- साइबर जागरूकता, नक़ली व असली नोट की जानकारी, साइबर सुरक्षा,

➖ ज़िला पुलिस बल- पुलिस बल इकाइ के उपलब्ध हथियार, रखरखाव प्रशिक्षण तथा कानून व्यवस्था की स्थिति में उपयोग

➖ महिला सुरक्षा- महिलाओं के अधिकारो की जानकारी, अभिव्यक्ति ऐप की जानकारी, महिला सम्बन्धी अपराधों से अवगत कराना व पंप्लेट बाँटना

➖यातायात पुलिस- ट्राफ़िक के आधुनिक उपकरण प्रयोग विधि एवं ड्यूटी दौरान में उपयोग तथा स्कूलों द्वारा सुगम सुरक्षित यातायात मॉडल के माध्यम से ट्राफ़िक जागरूकता एवं नयी तकनीकों का प्रदर्शन

➖ एफ़॰एस॰एल॰- कार्यवाहियों का विवरण, ब्राउन शुगर, गंजा, नशीले पदार्थों का विवरण एवं विश्लेषण,

➖ fingerprint की तकनीक व उनका प्रदर्शन , क्राइम सीन से साक्ष्यों संकलन

➖ एन॰सी॰सी॰ की इकाई का विवरण व उनके कार्यों का प्रदर्शन

➖ केंद्रीय जेल-जेल क़ैदियों द्वारा बनाई गयी सामग्रियों प्रदर्शन, फ़र्नीचर, कपड़े, मिट्टी की सामग्रियोंके बारे में जानकारी सम्बंधित विभाग द्वारा दी गई।

➖खान-पान

केंद्रीय जेल की आस्था मुंगोड़ी सेंटर ,गढकलेवा वदिव्यंगो का पकोड़ा व मटर चाट, गुलगुला भजिया ,वृद्धाश्रम संस्था का पकोड़ा, बड़ा, पिंक लाइन ऑटो- पकोड़ा, गुपचुप, चाट, ख़्वाब वेल्फ़ेयर फ़ाउंडेशन- सलोनी, चकली, सैंड्विच, पास्ता, मैगी, नूडल पुलिस परिवार- केक, पेस्ट्री, मोमोस, अंकुरित चाट

➖ खेल- शूटिंग गेम, रिंग निशाना लगाना बास्केटबॉल, झूला , कार राइड

➖ सेल्फ़ी पाइंट, पुलिस वर्दी me cut out

आज के मेले का मुख्य आकर्षण पुलिस का स्टाल खानपान एवं बच्चों का मनोरंजन रहा व सांस्कृतिक कार्यक्रम रहा,जहां लोगों ने स्वस्थ मनोरंजन, खानपान के साथ पुलिस के विभिन्न शाखाओं की जानकारी प्राप्त की बच्चों में मनोरंजन वह मेले को लेकर काफी हर्ष होने से नगर वासियों में इस आयोजन की काफी चर्चा रही।

Next Story