बिल्डर का खुनी खेल: पत्नी, बेटे-बहू और 13 वर्ष के पोते को कुल्हाड़ी से काट डाला, 10 मिनट में उजाड़ा पूरा परिवार… खत में लिखी वजह

नईदिल्ली 25 नवंबर 2020. पंजाब के लुधियाना से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। एक बिल्डर ने घरेलू विवाद में अपनी पत्नी, बेटे-बहू और 13 वर्ष के पोते को कुल्हाड़ी से काट डाला। इसके बाद आरोपी मौके से फरार भी हो गया। भागते समय उसकी कार कैनाल रोड पर एक पेड़ जा टकराई। इससे कार में आग लग गई, लेकिन आरोपी कार से निकल कर फरार होने में कामयाब हो गया। एक ही घर में चार लोगों की हत्या से पूरे इलाके में सनसनी फैली है। पूरे घर में खून फैला हुआ था। पुलिस ने आरोपी का लिखा सुसाइड नोट भी बरामद किया है। नोट में आरोपी ने वारदात की वजह भी लिखी है।

इस घटना से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है पड़ोसियों के मुताबिक जब उन्हें घटना का पता चला तो वह मौके पर पहुंच गए और देखा की प्रॉपर्टी का काम करने वाले राजीव ने अपनी पत्नी, बेटा, बहु, वह पोते को तेज धार हथियार के साथ बेहरमी से हत्या कर दी और आरोपी अपनी मां को साथ लेकर मौके से फरार हो गया।

बताया जा रहा है करीब चार दिन पहले उन्होंने राजीव के घर में झगड़ा होने का शोर सुना था। पुलिस को राजीव के घर से जांच के दौरान एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उसने लिखा है कि वह अपने बेटे के ससुराल वालों से काफी परेशान था। उसने बेटे के ससुर और साले को दो साल पहले चार लाख रुपये दिए थे, जो उन्होंने वापस नहीं दिए। इसके बाद तीन लाख दोबारा दिए, वह भी वापस नहीं मिले। अब बेटे का ससुर और साला दस लाख रुपये की मांग कर रहे थे। वह पैसे देने से इंकार कर रहा था। जिस कारण बहू ने घर में क्लेश कर रखा है कि उसके परिवार वालों को पैसे दो। बहू ब्लैकमेल कर रही थी कि वह उन पर झूठा मामला दर्ज कराएगी।

परिवार वालों पर मामला दर्ज होने और समाज में नाम खराब होने के डर से वह (राजीव) काफी परेशान है, जिस कारण वह अपने पूरे परिवार की हत्या करने के बाद आत्महत्या कर रहा है। इसके जिम्मेदार बेटे का ससुर और साला है। पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल ने बताया कि पीएयू थाने के प्रभारी परमदीप सिंह के बयान पर आरोपी राजीव कुमार के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

Spread the love