ब्रेकिंग : विधायक का साला गिरफ्तार ….कालेज छात्रा से की थी रेप की कोशिश ….पुलिस ने सिर्फ छेड़खानी की धारा लगाकर कर दी लीपापोती….. इससे पहले पंचायत ने सुनायी थी सिर्फ दो थप्पड़ मारने की सजा… मीडिया के दवाब के बाद पुलिस-प्रशासन कार्रवाई की खानापूर्ति में जुटी

जशपुर 15 मार्च 2020। …युवती से रेप की कोशिश करने वाले विधायक के साले को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना के तीन दिन बाद मीडिया के चौतरफा दवाब के बाद पुलिस ने आज आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार किया। कमाल की बात ये है कि जशपुर विधायक विनय भगत के साले ने छात्रा के साथ ना सिर्फ रेप की कोशिश की थी, बल्कि उसका अपहरण कर उसे सुनसान स्थान पर भी ले गया था। लेकिन पुलिस ने महज मामूली छेड़खानी का केस दर्ज कर आरोपी को बचाने का भरपूर इंतजाम करा दिया। जबकि युवती ने अपनी आपबीती में जो बातें बतायी थी, वो रोंगटे खड़े करने वाले थे। युवती के साथ ना सिर्फ रेप की कोशिश की गयी, बल्कि छात्रा को अपनी इज्जत बचाने के लिए आरोपी से एक घंटे तक भागना पड़ा। 13 मार्च को ये खबर NPG ने प्रकाशित की थी, जिसके बाद पुलिस के रवैये की चौतरफा आलोचना हो रही थी, लिहाजा दवाब के बाद पुलिस ने आज शाम आरोपी नितेश भगत को गिरफ्तार कर लिया है।

देखें वीडियो: MLA विनय भगत के साले ने किया युवती की अस्मत लूटने की कोशिश, पंचायत ने सजा दी दो थप्पड़ मारने की, विधायक की पत्नी ने थप्पड़ मारने की औपचारिकता निभाई, FIR दर्ज करने पुलिस के कांप रहे हाथ

SDOP राजेंद्र सिंह परिहार ने गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए NPG को बताया कि आरोपी को उसके घर से ही गिरफ्तार कर लिया गया है, उसके खिलाफ 354 के तहत मामला दर्ज किया गया है। आज गिरफ्तारी के बाद कल उसे कोर्ट में पेश किया जायेगा। कमाल की बात ये है कि युवती ने अपनी शिकायत में सुनसान जगह पर जबरदस्ती ले जाने और दुष्कर्म की कोशिश करने और धमकी देने की भी बात कही थी, लेकिन पुलिस ने सिर्फ उसके खिलाफ छेड़छाड़ का ही मामला दर्ज किया है, अन्य आरोपों पर धाराएं नहीं लगायी है।

इधर पीड़िता पर पंचायत का लगातार दवाब बढ़ रहा है। पंचायत की तरफ से युवती पर समझौते का दवाब बनाया जा रहा है। इससे पहले इसी मामले में पंचायत ने बलात्कार की कोशिश जैसे घिनौने मामले को रफा दफा करा दिया था। इस घिनौनी वारदात के लिए महज दो थप्पड़ मारने की सजा आरोपी पर तय की गयी थी। विधायक की पत्नी ने सिर्फ थप्पड़ मारने की रश्म निभाते हुए लड़की को ये हिदायत दी थी कि वो थाने में शिकायत ना करे। बाद में जब मीडिया में खबरें आयी तो युवती ने हिम्मत कर थाने में शिकायत दर्ज करायी।

उससे पहले पहले एसपी से लेकर कलेक्टर तक सभी ने चुप्पी साध रखी थी। कलेक्टर और एसपी दोनों ने इस घटना पर अनिभिज्ञता जाहिर की थी । खुद विधायक ने इस पूरे प्रकरण की जानकारी के बावजूद खुद को अनजान बताया था। हालांकि मीडिया के दवाब के बाद मामला तो दर्ज कर लिया गया, युवक को गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन जिन धाराओं के तहत विधायक के साले को गिरफ्तार किया गया है, उसे देखकर लगता नहीं कि पीड़िता को न्याय मिलेगा।

Spread the love