ब्रेकिंग : मुख्यमंत्री के करीबी के ठिकानों पर CBI की रेड…. पार्टी के जनरल सेकरेट्री भी हैं, मवेशी घोटाले के तार जुड़े होने की आशंका… इस मामले में कईयों की हो चुकी है गिरफ्तारी

कोलकाता 31 दिसंबर 2020। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बीजेपी के बीच तल्खी ज्यादा ही बढ़ गयी है। आरोप-प्रत्यारोप के बीच मुख्यमंत्री के भतीजे अभिषेक बनर्जी के करीबे के ठिकाने पर CBI की दबिश पड़ी है। सीबीआई ने कोलकाता में तृणमूल यूथ कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी विनय मिश्रा के ठिकानों पर छापे मारे. ये छापेमारी मवेशी तस्करी घोटाले को लेकर की गई है.जानकारी के मुताबिक, सीबीआई की ओर से लगातार विनय मिश्रा को नोटिस दिया गया था लेकिन उसने इन्हें नज़रअंदाज किया. विनय मिश्रा को तृणमूल कांग्रेस के नेता अभिषेक बनर्जी का करीबी माना जाता है. अभिषेक बनर्जी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे हैं.

गुरुवार को सीबीआई की टीम कोलकाता में विनय मिश्रा के ठिकानों पर पहुंची, दो ठिकानों पर मवेशी घोटाले और एक जगह पर कोयला चोरी मामले में रेड मारी गई है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक, कोलकाता में विनय मिश्रा के अन्य ठिकानों पर भी छापेमारी हो सकती है.

इसके अलावा आसनसोल के विख्यात कोयला तस्करी कांड में हुगली जिले का भी नाम जुड़ गया है. सीबीआई की टीम ने गुरुवार को जिले के कोननगर में अमित सिंह और नीरज सिंह दोनों भाइयों के घरों में छापा मारा. हालांकि, सीबीआई की टीम की छापेमारी के दौरान सिंह बंधु अपने घर से नदारद थे .

सीबीआई ने यहां परिवार के सदस्यों से सवाल किए और  उनके घर में मौजूद दस्तावेजों की जांच पड़ताल की. सीबीआई टीम के साथ केंद्रीय सुरक्षाबलों के जवान भी थे.

सीबीआई के इस एक्शन के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेता कैलाश विजयवर्गीय का रिएक्शन आया है. कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया है कि बंगाल के एक पावर ब्रोकर विनय मिश्रा के यहां सीबीआई के छापे के बाद बंगाल के उच्च अधिकारियों की आपातकालीन बैठक और मुख्यमंत्री एवं भाइयों के यहां हलचल, प्रदेश में चर्चा का विषय है!

गौरतलब है कि भारत और बांग्लादेश की सीमा पर लंबे वक्त से मवेशियों की तस्करी की बात सामने आई थी, जिसमें स्थानीय अफसरों, नेताओं के शामिल होने की बात थी. इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है, कुछ वक्त पहले ही इसी केस में सीबीआई ने बीएसएफ के कई अफसरों को समन किया था और पूछताछ की थी.

Spread the love