ब्रेकिंग: SP और DM हटाये गए- गोलीकांड के विरोध में फूंकी गई कई गाड़ियां, गुस्साई भीड़ ने पुलिस चौकी और एसपी ऑफिस पर किया हमला

पटना 29 अक्टूबर 2020. मुंगेर हिंसा ने भयावह रूप ले लिया है. दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान मुंगेर में पुलिस फायरिंग एवं एक युवक की मौत के मामले को लेकर गुरुवार को मुंगेर शहर में लोगों का आक्रोश फूट पड़ा और सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित भीड़ ने पहले पुलिस अधीक्षक कार्यालय में भारी तोड़फोड़ की और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया.

चुनाव आयोग ने मुंगेर के डीएम और एसपी लिपि सिंह को तत्काल प्रभाव से हटाने का आदेश सरकार को दिया है. आयोग के निर्देश के बाद सरकार ने दोनों अधिकारियों का तबादला कर दिया है।गुरुवार को ही देर शाम तक नए डीएम एसपी की तैनाती की जाएगी.

कांग्रेस ने मुंगेर हिंसा को लेकर सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर पूछा कि मुंगेर हिंसा निंदनीय है. पर इसके लिए जुम्मेवार कौन आठ लोगों को गोली मारने का जुम्मेवार कौन? माँ दुर्गा के भक्तों को जानवरों से पीटने का जुम्मेवार कौन? साफ़ है, ‘निर्दयी कुमार’ और ‘निर्मम मोदी’!

मुंगेर में बुधवार को वोटिंग थी इसलिए सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त थी, लेकिन गुरुवार को सुरक्षा बलों के जाते ही लोग जमा होने लगे। एसपी आफिस के पास करीब 25-30 हजार लोग जमा हो गए। पुलिस ने बल प्रयोग करने की तैयारी की तो लोगों का गुस्सा बढ़ गया और उन्होंने एसपी ऑफिस पर पथराव कर दिया। एक वाहन के शीशे तोड़ दिए। सराय मांडी में सड़क पर आगजनी की गई। वहां तोड़फोड़ की गई। खबर है कि भीड़ ने वहां एक जज के बंगले पर भी पथराव किया है। बिहार के मुंगेर में भड़की हिंसा गुरुवार को फिर जोर पकड़ रही है। गुस्साई भीड़ ने बासुदेवपुर पुलिस चौकी में आग लगा दी है। एसपी ऑफिस पर भी हमला हुआ है। भीड़ अब वहां से मुफस्सिल थाने की ओर रवाना हो गई है।

दरअसल, मुंगेर में सोमवार को मूर्ति विसर्जन के दौरान हिंसा हुई थी। बुधवार को इसका एक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें पुलिस लोगों को बेरहमी से पीटती नजर आ रही थी। इस घटना को लेकर लोगों में पुलिस के खिलाफ गुस्सा है।

एसपी लिपि सिंह को जनरल डायर कह रहे लोग
एसपी लिपि सिंह की तुलना लोग जनरल डायर से कर रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि लिपि सिंह बेहद क्रूर किस्म की पुलिस अधिकारी हैं। लोगों का आरोप है कि लिपि सिंह ने जलियांवाला बाग कांड की तरह निहत्थे लोगों पर गोलियां और लाठी चलाने के आदेश दे दिए। मुंगेर जिले की पुलिस अधीक्षक लिपी सिंह नीतीश के विश्वासपात्र माने जाने पूर्व आईएएस अधिकारी एवं जेडीयू के राज्यसभा सदस्य आरसीपी सिंह की नीतीश कुमार के करीबी सहयोगी की बेटी हैं।

Spread the love