ब्रेकिंग : कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र 60 से 58 साल नहीं की जाएगी ….सरकार ने किया साफ….उम्र घटाने को लेकर पूछे गये सवाल के जवाब में क्या कहा मंत्री ने…पढ़िये

नयी दिल्ली 27 नवंबर 2019। केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा है कि कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र को 60 साल से घटाकर के 58 साल करने का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है। केंद्रीय कार्मिक मंत्री जितेंद्र सिंह ने लोकसभा में यह बात लिखित उत्तर में दी। कई दिनों से इस तरह की अटकलें चल रही थीं कि सरकार कर्मचारियों की रिटायरमेंट उम्र को घटाने जा रही है। जितेंद्र सिंह ने कहा कि नियम 56 (जे), केंद्रीय सिविल सर्विस (पेंशन) नियम 1972 और अखिल भारतीय सेवा केनियम 16(3) (संशोधित) 1958 के तहत सरकार के पास यह अधिकार है कि वो किसी भी कर्मचारी को जबरिया रिटायर कर सकती है। हालांकि यह तब होता है जब कर्मचारी किसी कृत्य के लिए दोषी पाया जाता है और जांच एजेंसियों ने इसके लिए संस्तुति की हो।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

सरकार ऐसे कर्मचारियों को तीन माह का नोटिस और वेतनमान देती है। हालांकि यह नियम केवल ग्रुप ए और ग्रुप बी के कर्मचारियों पर लागू होते हैं, अगर वो 35 साल के हो गए हैं। 55 साल से ऊपर की अम्र वाले सभी कर्मचारियों पर यह नियम लागू होता है।

उन्होंने कहा,‘‘ केंद्रीय सिविल सेवा (पेंशन) नियम, 1972 का नियम 56 (जे) और केंद्रीय सिविल सेवा (पेंशन) के नियम सरकार को समय-समय पर कर्मचारियों के काम की समीक्षा का अधिकार देते हैं। इसके तहत अगर कोई कर्मचारी अक्षम पाया जाता है या उसका आचरण भ्रष्ट होता है, तो उसे समय से पहले सेवानिवृत्त किया जा सकता है। इसके लिए तीन महीने का नोटिस दिया जाता है या इसके एवज में उतने महीने की तनख्वाह और भत्ते दिए जाते हैं।’’

‘ग्रुप-ए और ग्रुप-बी के कर्मचारी इसके दायरे में आते हैं’

केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा, ‘‘ये प्रावधान ग्रुप-ए और बी के सरकारी कर्मचारियों पर लागू होते हैं। इसके दायरे में अर्धशासकीय संस्था में काम करने वाले वह कर्मचारी भी आएंगे, जो 35 साल की उम्र पूरी करने से पहले सेवा में आए हों और उनकी उम्र 50 साल से ज्यादा हो गई हो।’’

Get real time updates directly on you device, subscribe now.