breaking: आपात स्थिति में किसी भी अनुबंधित अस्पताल में कराया जा सकता है ईलाज…. सीजेरियन डिलवरी के प्रकरणों में सीधे निजी अनुबंधित अस्पताल जा कर कराया जा सकता हैं ईलाज

*  डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में आपात स्थिति को रखा गया है खुला
* शासकीय अस्पतालों से सीजेरियन डिलवरी की आपात स्थिति में 48 घंटे का समय निर्धारित है रेफरल पर्ची के लिए
रायपुर 10 फरवरी 2020  डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना (डीकेबीएसएसवाॅय) मेें आपात स्थिति के मरीजों का पैकेज पूरी तरह से खुला रखा है। इस स्थिति का मरीज सुविधा के अनुसार निजी व शासकीय अनुबंधित अस्पताल में तत्काल उपचार लाभ योजना से ले सकता है। सीजेरियन डिलवरी के प्रकरणों में भी आपात स्थिति में महिला सीधे निजी अनुबंधित अस्पताल में उपचार करा सकती है।
राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना डीकेबीएसएसवाॅय में आपात स्थिति की व्याख्या की गई है। आपात सीजेरियन डिलवरी के प्रकरणों में महिला सीधे निजी अनुबंधित अस्पताल जा कर उपचार लाभ ले सकती है। अस्पताल में भर्ती हो जाने के 48 घंटे के भीतर मरीज के परिजनों को जाॅच रिपोर्ट के आधार पर आस-पास के शासकीय अस्पतालों से निजी अस्पताल के लिए रेफरल जारी किये जाने का प्रावधान किया गया है।
सुनियोजित सीजेरियन डिलवरी के प्रकरणों में महिला को रेफरल पर्ची पहले से ही उपलब्ध करा दी जावेगी। सामान्य डिलवरी समझ कर शासकीय अस्पताल पहुॅच जाने व स्थिति सीजेरियन डिलवरी की होने पर शासकीय अस्पताल सुविधा न होने की स्थिति में रेफरल पर्ची दे कर मरीज को पास के निजी अनुबंधित अस्पताल में उपचार लाभ के लिए रेफर कर दिया जाएगा। सामान्य डिलवरी के प्रकरण शासकीय अस्पतालों में ही उपचारित होंगे और मरीजों को डीकेबीएसएसवाॅय का लाभ शासकीय अस्पतालों में भी मिलेगा।
ईलाज सबका, जिम्मा हमारा
डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना का उद्देश्य सभी को आसानी से उपचार उपलब्ध कराना है। जिसकी जिम्मेदारी राज्य सरकार ने ले रखी है। किसी को दिक्कत होने की स्थिति में उसका त्वरित निराकरण भी राज्य नोडल एजेंसी द्वारा किया जा रहा है।
अकारण सीजेरियन डिलवरी पर लगेगी लगाम
डीकेबीएसएसवाॅय योजनांतर्गत इस व्यवस्था से बिना कारण हो रहीं सीजेरियन डिलवरी को रोका भी जा सकेगा। शासकीय अस्पताल में महिला की जाॅच रिपोर्ट व अन्य दस्तावेजों के आधार पर यह तय हो जाएगा कि महिला को सीजेरियन डिलवरी की आवश्यकता थी अथवा सामान्य डिलवरी ही हो सकती थी।
इमरजेंसी सभी के लिए ओपन 
डीकेबीएसएसवाॅय में आपातकालीन (इमरजेंसी) की स्थिति में मरीज निजी अनुबंधित व शासकीय अस्पताल कहीं भी और कभी भी ईलाज ले सकता है। इमरजेंसी स्थिति निजी अनुबंधित व शासकीय सभी अस्पतालों के लिए खुली रखी गई है।
पन्द्रह सौ पचास से ज्यादा पैकेज सभी के लिए खुले
डाॅ. खूबचन्द बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना (डीकेबीएसएसवाॅय) में 1550 से ज्यादा पैकेज सभी के लिए खुले रखे गये है। लगभग 150 पैकेज ऐसे हैं, जिन्हें शासकीय अस्पतालों के लिए आरक्षित किया गया है। शासकीय अस्पतालों के लिए आरक्षित इन पैकेजों में भी इस बात का पूरा ध्यान रखा गया हैं कि मरीज को किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होनी चाहिए।
Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.