ब्रेकिंग : पूर्व वन मंत्री का निधन …. निर्दलीय विधायक होते हुए भी बने थे वन मंत्री….मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर निधन पर जताया शोक

रायपुर 19 अप्रैल 2020। पूर्व मंत्री डीपी धृतलहरे का आज निधन हो गया। वो पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। रायपुर के निजी अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। उनकी मौत की खबर सुनते ही सूबे के मंत्री शिव डहरिया अस्पताल पहुंचे और उनके अंतिम दर्शन किये। इधर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी ट्वीट कर उन्हें श्रद्धांजली दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर लिखा है..

अजीत जोगी सरकार में धृतलहरे को वन मंत्री बनाया गया था। वो सतनामी समाज के बड़े नेता थे।  डीपी धृतलहरे निर्दलीय चुनाव लड़ने के बाद भी छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के बहुमत में बनी अजीत जोगी सरकार में मंत्री बने थे. हालांकि उन्होंने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से टिकट मांगी, लेकिन टिकट नहीं मिलने पर वे निर्दलीय चुनाव लड़े और जीते भी थे।

नावागढ़ क्षेत्र के कद्दावर नेता रहे धृतलहरे तीन बार वहीं से विधायक चुने गये थे। बीच में वो अजीत जोगी के साथ जोगी कांग्रेस में चले गये थे, लेकिन बाद में उन्होंने कांग्रेस में वापसी कर ली थी।

Spread the love