ब्रेकिंग : सशस्त्र समूह ने सड़क निर्माण में लगी मशीनों और गाड़ियों को जलाया, दिन में 10.30 बजे हुई घटना ने पुलिस के हूकूक को दी सीधी चुनौती

अंबिकापुर,17 फ़रवरी 2020। छत्तीसगढ़ झारखंड सरहद पर सामरी के बंदर चुंआ कैंप से करीब 5 किलोमीटर आगे सड़क निर्माण में लगी मशीनों और वाहनों को सशस्त्र समूह ने दिन में साढ़े दस से ग्यारह के बीच जला दिया है।मिली जानकारी के अनुसार इस घटना में 7 वाहन जला कर नष्ट किए गए हैं।यह इलाका नक्सल प्रभावित अति संवेदनशील इलाके के रूप में पहचाना जाता है।
घटना को लेकर यह जानकारी है कि यह घटना दिन में 10:30 बजे तब हुई जबकि करीब 12 की संख्या में सशस्त्र समूह वहां पहुंचा और उन्होंने कार्यरत श्रमिकों को वहां से हटाकर निर्माण कार्य में लगे वाहनों को जला दिया।
चुनचुना पुनदाग छत्तीसगढ़ राजस्व नक़्शे का आख़िरी गाँव है, और इस इलाक़े में मौजुद बूढ़ा पहाड़ माओवादियों का सबसे सुरक्षित ठिकाना माना जाता है। झारखंड में मौजुद समूहों में बंट चुके नक्सली संगठन और झारखंड के सुरक्षा बलों के बीच इस इलाक़े में लगातार मुठभेड़ होती रही है।
IG सरगुजा रतनलाल डाँगी ने कहा

“घटना हुई है और वाहनों को मशीनों को जलाया गया है, बेहद संवेदनशील क्षेत्र है और कप्तान बलरामपुर मौक़े पर पहुँच गए हैं।यह दुस्साहस है और हम इसका मुंहतोड़ जवाब देंगे, इसके लिए रणनीति तय कर ली गई है”

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.