ब्रेकिंग: आंबेडकर हॉस्पीटल में नहीं भर्ती लिये जायेंगे अब नये मरीज…..भर्ती मरीजों को भी किया जायेगा दूसरी जगह शिफ्ट….कई विभागों के OPD-IPD भी जायेंगे दूसरी जगह…..कोरोना के लिए अस्पताल में बनेगा 500 बिस्तर वाला अस्पताल

रायपुर 7 अप्रैल 2020। कोविड-19 के इलाज के लिए रायपुर मेडिकल कॉलेज के अस्पताल डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय में 500 बिस्तरों की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए यहां संचालित कई विभागों की ओपीडी और आईपीडी को शहर के दूसरे शासकीय अस्पतालों में अस्थायी रूप से स्थानांतरित किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव के निर्देश पर विभागीय सचिव  निहारिका बारिक सिंह ने स्वास्थ्य सेवाएं और चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक तथा डीकेएस सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल के अधीक्षक को आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने कहा है।

स्वास्थ्य सचिव ने 7 अप्रैल से डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय में नए मरीज भर्ती नहीं करने के निर्देश दिए हैं। यहां का स्त्री रोग विभाग डॉक्टरों, नर्सों, तक्नीशियनों एवं अन्य स्टॉफ तथा उपकरणों सहित पंडरी स्थित जिला चिकित्सालय से संचालित होगा। जरूरत पड़ने पर कालीबाड़ी स्थित मातृ एवं शिशु अस्पताल का भी उपयोग किया जाएगा। सिविल सर्जन डॉ. तृप्ति नागरिया से परामर्श कर जिला अस्पताल में स्त्री रोग विभाग की ओ.पी.डी. और लेबर रूम के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेंगे।

डॉ. भीमराव अंबेडकर चिकित्सालय में कोविड-19 अस्पताल संचालित होने के दौरान बाल्य एवं शिशु रोग विभाग को शांतिनगर स्थित एकता अस्पताल स्थानांतरित किया जाएगा। बाल्य एवं शिशु रोग विभाग के विभागाध्यक्ष अपने सभी स्टॉफ एवं उपकरण सहित एकता अस्पताल से कार्य संपादित करेंगे। संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं को अस्पताल के अधिग्रहण के लिए निर्देशित किया गया है।

डॉ. भीमराव अंबेडकर अस्पताल का ब्लड बैंक, पैथोलॉजी, एनिस्थिसिया, रेडियोलॉजी एवं प्रशासनिक विभाग वहां यथावत कार्य करते रहेगा। जरूरत के मुताबिक डीकेएस सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल, जिला चिकित्सालय एवं एकता अस्पताल से भी मदद ली जाएगी। क्षेत्रीय कैंसर संस्थान यहां से पूर्ववत संचालित होते रहेगा। अंबेडकर अस्पताल के अन्य विभागों के मरीजों को डीकेएस सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। इन विभागों की ओ.पी.डी. भी वहीं से संचालित की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा अंबेडकर अस्पताल के अधीक्षक को इस संबंध में आवश्यक व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही सभी विभागाध्यक्षों को अपने सभी डॉक्टरों, स्टॉफ और उपकरणों सहित विभागीय निर्देशानुसार कार्य संपादन सुनिश्चित करने कहा गया है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

error: Content is protected By NPG.NEWS!!