बोले बस्तर IG पी सुंदरराज… “छत्तीसगढ़ बनने के बाद 1769 निर्दोष ग्रामीणों की हत्या हुई.. CPI माओवादी महासचिव बसवराजू और सेंट्रल कमेटी इन हत्याओं की जवाबदेही लेंगे”

जगदलपुर,9 सितंबर 2020। बस्तर रेंज आईजी पी सुंदरराज ने एक खुला ख़त जारी किया है और माओवादियों से तीखे सवाल किए हैं। आईजी पी सुंदरराज ने पूछा है
“बीस सालों में जब से कि छत्तीसगढ़ बना..नाबालिग बच्चे गर्भवती महिलाएं बुजुर्ग व्यक्ति और दिव्यांग ग्रामीण मिला कर 1769 निर्दोष आदिवासियों की हत्या की गई. माओवादियों का दावा रहा है कि वे आदिवासियों के हितों की लड़ाई लड़ते हैं और ये कैसा सिद्धांत और दावा है कि निर्दोष आदिवासियों को ही नक्सली मार रहे हैं”
अपने खुले खत में आईजी पी सुंदरराज ने माओवादियों के टॉप कैडर जिनमें माओवादी संगठन के महासचिव बसवराजू और सेंट्रल कमेटी से पाँच सवाल किए हैं।
आईजी बस्तर ने जो पाँच सवालों को पूछा है वो ये हैं –
1- क्या माओवादियो के महासचिव एवं सेन्ट्रल कमेटी के निर्देश पर ही सैकड़ो बेगुनाह आदिवासियों की हत्या की गई?

2. यदि उनकी निर्देश पर ही कर रहे तो किसी भी व्यक्ति का जान लेने का उन्हें कहां से अधिकार प्राप्त हुआ?

3. माओवादी द्वारा हत्या की गई 1769 निर्दोष ग्रामीणों के कारण माओवादियों संगठन को क्या-क्या क्षति हुआ इसका व्यौरा दे सकता है क्या?

4. क्या वर्तमान में जनता द्वारा माओवादी अत्याचार के विरूद्ध में उठाई जा रहे आवाज को कुचलने के लिए उनकी हत्या की जा रही है?

5. माओवादी संगठन की असली चेहरा को पहचानने के बाद संगठन छोड़कर बड़ी संख्या में हो रही आत्मसमर्पण के बौखलाहट ही हिंसात्मक घटनाओं का कारण तो नही है?
बस्तर रेंज आईजी पी सुंदरराज ने NPG से कहा
“बस्तर और बस्तरिहा कभी इनके साथ नहीं रहा है,ये केवल झूठ और झूठ और झूठ बोला करते हैं,ये भोले भाले आदिवासियों को पुलिस मुखबिर बता कर क्रूरता से मार रहे हैं क्योंकि बस्तरिया अब मूख्य धारा में शामिल हो रहा है.. माओवादी आंदोलन ऐसे पड़ाव पर है जहां से अब केवल उनका ख़ात्मा शेष है जो बहुत जल्दी होगा”

Get real time updates directly on you device, subscribe now.