BMC ने क्रेन-हथौड़ों से एक्ट्रेस का ऑफिस तोड़ा; कंगना ने हाईकोर्ट में अर्जी लगाई, शिवसेना से कहा- याद रख बाबर, यह मंदिर फिर बनेगा

मुंबई 9 सितंबर 2020। बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत को उद्धव सरकार से पंगा लेना महंगा पड़ गया है. बीएमसी ने बांद्रा वेस्ट के पाली हिल रोड पर स्थित कंगना रनौत के दफ्तर के अवैध निर्माण को ध्वस्त करने की कार्रवाई शुरू कर दी है. बीएमसी की टीम जेसीबी और मजदूरों के साथ कंगना के दफ्तर पहुंच गई है और अवैध निर्माण को तोड़ा जा रहा है. इस बीच कंगना ने बीएमसी की टीम को बाबर की सेना कहा है.

बीएमसी की इस कार्रवाई के खिलाफ कंगना ने बॉम्बे हाई कोर्ट में अर्जी दायर की है. कंगना की ओर से रिजवान सिद्दीकी ने अर्जी दाखिल की, जिस पर जस्टिस एस कथावाला थोड़ी देर में सुनवाई करेंगे. इसके साथ ही कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी बांद्रा पहुंचे रहे हैं और बीएमसी की कार्रवाई को रोकने की कोशिश करेंगे.

इधर, कंगना के ऑफिस मणिकर्णिका फ़िल्म्ज़ के बाहर एक बार फिर जेसीबी मशीन को बुला लिया गया है. बीएमसी के कर्मचारी अपने काम में जुटे हुए हैं. कंगना ने इस मामले को लेकर मोर्चा खोल दिया है, वो ताबड़तोड़ ट्वीट कर रही हैं. इस मामले को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही है.कंगना ने कहा कि मेरे घर में कोई अवैध निर्माण नहीं है, सरकार ने भी 30 सितंबर तक कोविड में किसी भी विध्वंस पर प्रतिबंध लगा दिया है, अब बॉलीवुड की नज़र में यह वही है जो फासीवाद जैसा दिखता है.

संजय राउत और कंगन रनौत के बीच शुरू हुए विवाद अब कंगना के ऑफिस टूटने तक पहुंच गया है. बीएमसी ने आज कंगना रनौत के ऑफिस पर अवैध निर्माण तोड़ने का नोटिस लगाया और उसके तुरंत बाद उनके ऑफिस में अवैध निर्माण को तोड़ने का काम शुरू कर दिया है.मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा कि कंगना ने महाराष्ट्र सरकार को चुनौती दी, बीएमसी को चुनौती दी. उन्होंने मुंबई की तुलना पाकिस्तान से की. उन्हें ये सब नहीं कहना चाहिए.

Spread the love