भाजपा का कल प्रदर्शन : धान खरीदी 1 नवंबर से करने व वादा पूरा करने की मांगों को लेकर बीजेपी कल उतरेगी सड़कों पर…..प्रदेश अध्यक्ष ने वेबिनार के जरिये ली शीर्ष नेताओं से चर्चा…इन मसलों पर आंदोलन की बनी रणनीति

रायपुर 6 अक्टूबर 2020। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई कल 7 अक्टूबर को दोपहर 1बजे से 4 बजे तक प्रदेशभर में खेती-किसानी, धान ख़रीदी और किसानों से किए गए सभी वादों को पूरा करने की मांग को लेकर ब्लॉक स्तर पर धरना-प्रदर्शन करेगी और इसके बाद एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपेगी। पार्टी के तत्वावधान में मंगलवार को पूर्वाह्न में आहूत वेबिनार में इस विषय पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने सभी प्रमुख नेताओं, पदाधिकारियों व सांसदों-विधायकों से चर्चा के उपरांत यह घोषणा की। भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, प्रदेश संगठन महामंत्री पवन साय, प्रदेश महामंत्री त्रय किरण देव, नारायण चंदेल व भूपेंद्र सिंग सवन्नी, राज्य सभा संसद सदस्य द्वय डॉ.सरोज पांडेय व रामविचार नेताम सहित सभी प्रदेश पदाधिकारी व ज़िला अध्यक्षों ने वेबिनार में शिरक़त की।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि अब केंद्र सरकार ने केंद्रीय पूल में पिछले वर्ष की तुलना में डेढ़ गुना अधिक यानी 60 लाख मीट्रिक टन चावल लेने की घोषणा की है, अत: प्रदेश सरकार को अब किसानों से प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान ख़रीदने की घोषणा करनी चाहिए क्योंकि 60 लाख मीट्रिक टन चावल के लिए लगभग 90 लाख मीट्रिक टन धान की ज़रूरत होगी। केंद्र सरकार ने चावल की मद में प्रदेश सरकार को 9 हज़ार करोड़ रुपए की राशि भी हाल ही में दी है। श्री साय ने कहा कि केंद्र सरकार के फैसलों का पूरा लाभ किसानों को देकर प्रदेश सरकार इस वर्ष धान ख़रीदी का काम भाजपा शासनकाल की तरह ही 1 नवंबर से प्रारंभ करे और पिछले वर्ष की तरह किसानों के साथ अपराधियों जैसा व्यवहार न करे। श्री साय ने कहा कि चालू खरीफ सत्र का धान लगभग तैयार हो चुका है और बहुत ज़ल्द फसल की लुआई शुरू हो जाएगी, लेकिन प्रदेश सरकार ने अभी पिछले वर्ष के धान के समर्थन मूल्य का ही पूरा भुगतान नहीं किया है और जिससे किसानों को काफी दिक्कतों से दो-चार होना पड़ रहा है। प्रदेश सरकार अपने नेताओं के जन्मदिन-पुण्यतिथि पर किसानों को उनकी उपज का मूल्य टुकड़ों-टुकड़ों में देकर अन्नदाता किसानों का घोर अपमान करने से बाज आए क्योंकि भाजपा शासनकाल में 24 घंटे के भीतर किसानों के पूरे भुगतान की व्यवस्था थी।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री साय ने कहा कि प्रदेश सरकार फ़िज़ूल की सियासी नौटंकियाँ करने के बजाय संघीय ढाँचे का सम्मान करते हुए नए कृषि क़ानूनों का क्रियान्वयन कर किसानों के खाते में उनकी फसल की पूरी कीमत 72 घंटे में एकमुश्त जमा करने की व्यवस्था सुनिश्चित करे और यह भी घोषणा करे कि इस क़ानून के मुताबिक़ इस साल से किसानों पर धान के परिवहन व भंडारण के नाम पर कोई अत्याचार नहीं किया जाएगा, उन्हें परेशान करने के लिए कोई मुक़दमा नहीं करेगी। श्री साय ने कहा कि प्रदेश सरकार गिरदावरी के नाम पर किसानों के खेत का रकबा घटाने का घिनौना षड्यंत्र कर रही है ताकि पूरा धान खरीदने की ज़िम्मेदारी और अपने वादे से मुँह चुरा सके। यदि प्रदेश सरकार ने किसानों के खेतों का एक इंच रकवा भी घटाने की बदनीयती दिखाई तो भाजपा सड़क की लड़ाई लड़कर सरकार को किसानों की ताक़त का अहसास करने में कोई क़सर नहीं छोड़ेगी। श्री साय ने प्रदेश सरकार से अपने वादे को पूरा करते हुए किसानों को बकाया दो साल का बोनस भुगतान करने की भी मांग की है। प्रदेश सरकार की इस धोखाधड़ी से भी किसान क्षुब्ध हैं। श्री साय ने कहा कि कल 7 अक्टूबर को भाजपा कार्यकर्ता ब्लॉक स्तर पर इन्हीं सब मुद्दों पर धरना-प्रदर्शन कर अपनी मांगों से शासन को अवगत कराएंगे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.