comscore

महासमुंद सामूहिक आत्महत्या मामले को लेकर बीजेपी ने सरकार पर साधा निशाना….शांति सिंह ने कहा- “पूर्ण शराबबंदी हो तत्काल लागू, शराब ही घर-परिवार और समाजिक विवाद की वजह”

बलरामपुर 11 जून 2021। महासमुंद में 6 लोगोें की सामूहिक आत्महत्या ने पूरे प्रदेश को हिलाकर रख दिया है। इस आत्महत्या की घटना के बाद प्रदेश में फिर से पूर्ण शराबबंदी की मांग जोर पकड़ने लगी है। भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य एवं बलरामपुर जिला प्रभारी शांति सिंह ने घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि शराब परिवारिक कलह और विवाद की जड़ बन गयी है। कांग्रेस सरकार को चुनाव पूर्व किए गए अपने पूर्ण शराबबंदी के वादों को तत्काल पूरा करना चाहिये।

शाति सिंह ने कहा कि महासमुंद के बेमचा में शराब के आदी एक व्यक्ति की वजह से पूरा परिवार तबाह हो गया। घर के मुखिया के आदतन शराबी होने की वजह से परिवार के 6 लोगों ने ट्रेन से कटकर अपनी जान दे दी।  शांति सिंह ने कहा कि महिला एवं उनके मृत बेटियों के साथ महिला मोर्चा की बहनों की पूरी संवेदना है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार की गलत शराब नीति के कारण प्रदेश में इस तरह से कई परिवार बर्बादी के कगार पर हैं और सरकार सत्ता के नशे में चूर कुंभकरणी निद्रा में सो रही है।

विदित हो कि चुनाव पूर्व कांग्रेस पार्टी के नेताओं के द्वारा हाथ में पवित्र गंगाजल को लेकर तथा गाय की पूंछ पकड़कर शपथ लिया गया था कि जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी तो पूरे प्रदेश में शराबबंदी की जाएगी। जबकि वर्तमान में कांग्रेस सरकार के द्वारा शराबबंदी करना तो दूर घर-घर में शराब पहुंचाते हुए पूरे प्रदेश को बर्बादी के गर्त पर लाकर खड़ा कर दिया है। शांति सिंह ने कहा कि प्रदेश में अपहरण, बलात्कार, लूट,चोरी और हत्या की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है इसका कारण शराब और बाहरी लोगों का प्रदेश में अनाधिकृत रूप से प्रवेश है। प्रदेश की जनता के साथ विशेषकर महिलाओं के मन में आक्रोश है और महिलाएं ठान ले तो आने वाले समय में वो दिन दूर नहीं जब कांग्रेसी सरकार को शराबबंदी के झूठे वादे के कारण सत्ता से हाथ धोना पड़े। घर, परिवार और समाज में कलह और अपराध की प्रमुख जड़ शराब है।अतः प्रदेश में पूर्ण रूप से शराबबंदी कार्य लागू होना चाहिए।

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!