कोरोना वैक्सीन पर सबसे बड़ी खबर : चीन की कोरोना वैक्सीन बहुत असरदार…..वैक्सीन बताई गई एकदम सुरक्षित, एंटीबॉडी बनाने में भी सक्षम…नौजवान से 80 साल के बुजुर्गों तक में अच्छा रिस्पांस

नयी दिल्ली 19 अक्टूबर 2020। चीन की एक नई कोरोना वायरस वैक्सीन (Corona virus vaccine) का एंटीबॉडी पर अच्छा रिस्पॉन्स देखने को मिला है. गुरुवार को ‘दि लैंसेट इंफेक्शियस डिसीज जर्नल’ में इसकी एक रिपोर्ट भी प्रकाशित हुई है. वैक्सीन का ये रिजल्ट एक छोटे क्लीनिकल ट्रायल के शुरुआती चरण का हिस्सा था, जो निष्क्रिय किए गए सभी SARS-CoV-2 वायरस पर आधारित है।

18 से 80 साल के लोगों पर किए गए परीक्षण में चीनी वैक्सीन के परिणाम अच्छे आए हैं। इससे किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हुआ है बल्कि इससे एंटीबॉडी बनने में मदद मिली है। चिकित्सा क्षेत्र से जुड़ी खबरें और शोध प्रकाशित करने वाली पत्रिका ‘लैंसेट’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी कोरोना वैक्सीन ‘बीबीआइबीपी-सीओआरवी’ से कोरोना वायरस को पूरी तरह से निष्क्रिय किया जा सकता है। यह सुरक्षित होने के साथ-साथ एंटीबॉडी बनाने में भी सक्षम है। लैंसेट ने इससे पहले भी एक अन्य वैक्सीन को लेकर भी ऐसी बात कही थी जो कोरोना के लिए जिम्मेदार सार्स-सीओवी-2 वायरस को निष्कि्रय करता है लेकिन उस अध्ययन ने वैक्सीन का परीक्षण केवल 60 वर्ष से कम आयु के लोगों पर किया गया था।

28 से 24 दिनों में विकसित हो जाती है एंटीबॉडी

द लैंसेट इन्फेक्शियस डिजीज जर्नल में प्रकाशित इस नवीनतम अध्ययन में बताया गया है कि इस वैक्सीन के परीक्षण में 18 से 80 वर्ष की आयु के प्रतिभागी शामिल थे और पाया गया कि सभी में एंटीबॉडी बनी है। अध्ययन के अनुसार, इस वैक्सीन में एंटीबॉडी बनाने की रफ्तार 18 से 59 साल के लोगों में 60 से अधिक उम्र वाले लोगों के मुकाबले अधिक रही। 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों में एंटीबॉडी बनने में 42 दिन लगे जबकि 18 से 59 साल के प्रतिभागियों में 28 दिनों में एंटीबॉडी विकसित हो गई।

Spread the love