fbpx

बड़े SEX रैकेट का भंडाफोड़, आठ लड़कियों समेत 15 गिरफ्तार…. ऑनलाइन डिमांड पर भेजी जाती थी लड़कियां…ऐसे चल रहा था पूरा गिरोह

लखनऊ 28 जुलाई 2020। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पुलिस ने सेक्स रैकेट के धंधे का भंडाफोड़ किया है। साहिबाबाद इलाके में चल रहे इस सेक्स रैकेट से जुड़े 15 लोगों को भी पुलिस ने पकड़ा है। बताया जा रहा है कि देह व्यापार के धंधे में शामिल होने के आरोप में पकड़ी गई महिलाएं अक्सर पहाड़गंज, निजामुद्दीन और जहांगीपुरी इलाके में अलग-अलग होटलों में जाया करती थीं।

police busted a sex racket in ghaziabad

सीओ साहिबाबाद महिपाल सिंह ने बताया कि शालीमार गार्डन चौकी क्षेत्र के विक्रम एंक्लेव के एक फ्लैट में देह व्यापार चलने की सूचना पर छापेमारी की गई। पुलिस ने मौके से सरगना समेत आठ युवतियों और सात युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से 5500 रुपए बरामद किए हैं। पकड़ी गई युवतियां पंजाब, उत्तराखंड समेत अन्य राज्यों की हैं।

सीओ ने बताया कि पुलिस ने इन सभी को गिरफ्तार कर लिया है और मुकद्दमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है।इस सेक्स रैकेट को चलाने वाले गैंग की सरगना एक महिला है।

बताया जा रहा है कि महिला के पति की बहुत पहले मौत हो चुकी है। महिला ने पूछताछ में पुलिस को बताया है कि वह अपने बच्चों की पढ़ाई और परिवार को चलाने के लिए मजबूरी में इस धंधे में लिप्त है। पुलिस ने पूछताछ के बाद सभी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है और कानूनी कार्रवाई कर रही है।

3_072620052421.jpg

दिल्ली और एनसीआर में भेजी जाती थीं लड़कियां
महिला दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्र के होटलों में ऑनडिमांड युवतियों को भेजती थी। युवतियों को लाने ले जाने के लिए एक गाड़ी भी रखी थी। इसके साथ ही एक मेकअप वाली महिला भी थी। जो युवतियों को तैयार करती थी। पूछताछ में यह भी बताया कि जो जानकार थे वह यहां फ्लैट पर भी आते थे। पुलिस के अनुसार पकड़े गए आरोपियों की पहचान सन्नी, आकाया, प्रवीन, शुभम, सूरज, अभिषेक और इकबाल के रूप में हुई है।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

हर छह महीने में फ्लैट बदल देती थी महिला
साहिबाबाद थाना प्रभारी अनिल शाही के मुताबिक महिला एक स्थान पर छह माह से ज्यादा नहीं रुकती थी। वह पुलिस के पकड़े जाने के डर से अपना ठिकाना बदलती रहती थी। पूछताछ में महिला ने बताया कि वह किराए से तीन गुना अधिक मकान मालिक को देती थी। जिससे कोई उसका विरोध न कर सके। पुलिस ने फ्लैट को सील कर दिया है। म‌कान मालिक की भी जांच की जा रही है। वहीं पूछताछ में महिला ने यह भी बताया कि वॉट्सऐप के जरिए भी लोग उनसे संपर्क करते थे। फोटो भेजकर वह डिमांड मिलने पर युवतियों को भेजती थी। इसके लिए 10 हजार से 25 हजार रुपए लिए जाते थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.