बिग न्यूज : कैंसर व अन्य गंभीर बीमारी से पीड़ित कोरोना संक्रमित को होम आइसोलेट मिले या ना मिले ?…कोरोना मरीजों को लेकर विशेषज्ञों ने किया कन्फ्यूजन दूर…

रायपुर 26 सितंबर 2020। छत्तीसगढ़ में कोरोना चरम पर है। प्रदेश में कोरोना पॉजेटिव की संख्या एक लाख के पार कर चुकी है, 30 हजार से ज्यादा लोग अभी भी बीमार हैं। अस्पतालों में बेड खाली नहीं हैं, ऐसे में कोरोना मरीजों को होम आइसोलेट की भी सुविधा राज्य सरकार ने दी है। लेकिन होम आइसोलेशन और मरीजों की सतर्कता को लेकर अभी भी बहुत सारी कन्फ्यूजन है। किसे होम आइसोलेशन दिया जाये ? होम आइसोलेट मरीज को क्या सतर्कता बरतनी चाहिये ? गंभीर बीमारी से पीड़ित कोरोना मरीजों के लिए क्या नियम हैं? …ऐसे कई सवाल हैं, जिसके जवाब से कई डाक्टर भी अनजान हैं, लिहाजा सीनियर डाक्टरों, एम्स के स्पेशल्सिटों व होम आईसोलेशन के इंचार्ज डाक्टरों के साथ एक वीडियो कांफ्रेंसिंग करायी गयी, जिसमें कोरोना मरीजों को लेकर सारे कन्फ्यूजन को दूर किया गया। 

होम आइसोलेशन इंचार्ज ,रायपुर एडीएम नंदनवार ने बताया  कि कोरोना वायरस पॉज़िटिव मरीजो की देखभाल एवं चिकित्सा के लिए होम आइसोलेशन की व्यवस्था के अंतर्गत चिकित्सकों को दायित्व सौंपा गया है।आज होम आइसोलेशन हेतु नियुक्त शासकीय चिकित्सकों और एम्स के चिकित्सक  जशकेतन मेहेर के मध्य वेबिनार के माध्यम से कोरोना पॉजिटिव मरीजो के इलाज के संबंध में विस्तृत चर्चा की गई। इसमें covid के मरीज़ों के चिकित्सा के सम्बंध में आ रही समस्याओं पर लगभग 2 घंटे गहन चर्चा की गयी व नॉलेज शेयरिंग किया गया । aiims के चिकित्सक  मेहेर ने सभी प्रश्नों का विस्तृत जवाब दिया, जिससे चिकित्सा के दौरान आ रही व्यावहारिक समस्याओं का निराकरण हो सके । ज़िला अस्पताल के डॉक्टर  निलय ने इस दौरान अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिए ।

वीडियों कांफ्रेंसिंग के दौरान एक सवाल ये आया कि कैंसर या किसी अन्य गंभीर बीमारी से पीड़ित कोरोना पॉजेटिव को होम आइसोलेशन में ना रखा जाये। उसी तरह लक्षण सहित कोरोना संक्रमितों को भी घर में ना रखने की सलाह दी गयी
AIIMS , रायपुर प्रारम्भ से ही covid के इलाज में अग्रणी रहा है , जिससे उनके व्यावहारिक अनुभवों का लाभ निश्चित रूप से हमारे चिकित्सकों को मिलेगा । इस दौरान होम आयसलेशन के अतिरिक्त कैन्सर ग्रसित मरीज़ों के कोविद इलाज की विधि , दवाओं क़ी मात्रा , बच्चों के लिए ट्रीटमेंट प्रोटोकाल , कोविड टेस्ट , बाज़ार में उपलब्ध दवाओं की प्रासंगिकता , पॉज़िटिव महिला के स्तन पान करने जैसे कई मुद्दों पर गम्भीर चर्चा की गयी । इस दौरान विनीत नंदनवार के साथ सहायक नोडल अंजलि शर्मा व नोविता सिन्हा पूरे समय वेबिनार में उपस्थित रहे तथा इसका संचालन किया। विनीत नंदनवार ने बताया कि आवश्यकता अनुसार ऐसे वेबिनार का आयोजन समय समय पर किया जाता रहेगा । हमारे govt डॉक्टर्स के whatsapp ग्रूप में  मेहेर स्वयं जुड़े है । जिससे वह अन्य विषयों का भी समाधान समय समय पर करते रहेंगे ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.