बड़ी खबरः प्रदूषण फैलाने वाले 25 उद्योगों का उत्पादन बंद करने व बिजली काटने के निर्देश, 42 उद्योगों को कारण बताओ नोटिस जारी, पौल्यूशन बोर्ड की बड़ी कार्रवाई…

0 रायपुर शहर की परिवेशीय वायु गुणवत्ता मानक सीमा के भीतर

NPG.NEWS

रायपुर, 22 जनवरी 2021। प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों के खिलाफ छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मंडल की कार्रवाई जारी है। बोर्ड ने अफसरों को 25 उद्योगों का उत्पादन बंद करने व बिजली काटने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा 42 उद्योगों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।
21 जनवरी, 2021 की स्थिति में 25 उद्योगों को उत्पादन बंद करने एवं विद्युत विच्छेदन के निर्देश जारी किये गये हैं। 42 उद्योगों को डायरेक्शन नोटिस जारी किये गये हैं। मण्डल के क्षेत्रीय कार्यालय के सतत् प्रयास एवं दबाव से उल्लंघनकारी 24 रोलिंग मिल ईकाईयों से 20 रोलिंग मिलों द्वारा नोटिस के अनुसार आवश्यक सुधार किया गया है एवं 4 रोलिंग मिलें नोटिस के परिपेक्ष्य में आॅब्जरवेशन पिरियड में हैं। बंद करने वाले उद्योगों में मुख्यतः राईस मिल, रोलिंग मिल, क्रशर एवं स्लैग क्रशर शामिल हैं। मण्डल के क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर द्वारा न केवल उद्योगों की चिमनी से उत्सर्जन एवं फ्यूजिटिव उत्सर्जन को निर्धारित मानको के अनुरूप रखे जाने के लिये कार्यवाही की जा रही है, बल्कि परिवेशी वायु गुणवत्ता को भी मानको के अनुरूप रखे जाने हेतु प्रदूषण नियंत्रण उपकरणों के लगातार संचालन एवं उद्योगों से होने वाले ठोस अपशिष्टों के सुरक्षित आने-जाने व उसके सुरक्षित निष्पादन के प्रयास भी किये जा रहे हैं। रायपुर क्षेत्र में स्थापित उद्योगों का समय-समय पर आकस्मिक निरीक्षण भी किया जा रहा है, तथा दोषी पाये जाने पर उनके विरूद्ध कार्यवाही की जाती है।क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर द्वारा रेस्पिरेबल डस्ट सेम्पलर के माध्यम से नेशनल एम्बियंट एयर क्वालिटी माॅनिटरिंग प्रोग्राम के अंतर्गत परिवेशीय वायु की क्वालिटी जांचने के लिये वूलवर्थ इंडिया लिमिटेड सरोरा, उरला, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल काॅलोनी कबीर नगर एवं सी.एस.आई.डी.सी. भवन औद्योगिक क्षेत्र सिलतरा में पी.एम. 10 एवं कलेक्टोरेट रायपुर में पी. एम. 10 एवं पी. एम. 2.5 की माॅनिटरिंग की जा रही है। यदि प्रदूषण का वार्षिक औसत के परिणाम देखे जाये तो पूर्व वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष 2020 के परिणाम में गिरावट दर्ज की गई है एवं प्रदूषण की वर्तमान स्थिति भारत सरकार, पर्यावरण मंत्रालय द्वारा जारी मानक सीमा के भीतर संतोषप्रद की स्थिति में है। माॅनिटरिंग के वार्षिक औसत के परिणाम का उल्लेख निम्नानुसार है:-
उपरोक्त परिणामों से स्पष्ठ हो रहा कि रायपुर शहर में परिवेशीय वायु की गुणवत्ता में पूर्व की तुलना में सुधार हुआ है। रायपुर में सभी वायु प्रदूषणकारी प्रकृति के संचालित उद्योगों द्वारा वायु प्रदूषण नियंत्रण व्यवस्था यथा ईएसपी, बैग फिल्टर, सायक्लोन, स्क्रबर, डस्ट सपे्रशन सिस्टम, जल छिड़काव आदि की व्यवस्था की गई है। रायपुर में चिमनी उत्सर्जन पर 24×7 निगरानी रखने के लिये 17 प्रकार के वायु प्रदूषणकारी प्रकृति के उद्योगों में आॅन लाईन इमीशन माॅनिटरिंग सिस्टम की स्थापना कराई गई है। छत्तीसगढ़ पर्यावरण संरक्षण मण्डल द्वारा रायपुर के प्रदूषण पर नियंत्रण हेतु विभिन्न विभागों के सहयोग से कार्ययोजना बनाकर कार्यवाही की जा रही है।

 

Spread the love