10वीं की मार्कशीट में बड़ी गड़बड़ी : कई छात्रों को जन्म के पहले ही कर दिया CBSE ने 10th पास…….कईयों की ग्रेडिंग ही लिख दी गड़बड़….कहीं आपकी मार्कशीट भी गड़बड़ तो नहीं… देखिये क्या दिया है CBSE ने जवाब..

नयी दिल्ली 17 जुलाई 2020। CBSE 10वी की रिजल्ट के बाद जारी हुए मार्कशीट ने छात्रों और अभिभावकों को परेशान कर दिया है। मार्कशीट में ना सिर्फ ग्रेडिंग में कई गलतियां है, बल्कि कईयों के डेट आफ बर्थ को ही गलत कर दिया गया है। दरअसल रिजल्ट के बाद जब छात्रों ने सीबीएसई द्वारा उपलब्ध एसएमएस सुविधा से ऑनलाइन अपनी मार्कशीट निकाली तो उन्हें देखकर ज्यादातर हैरान रह गए। छात्रों की मार्कशीट में न सिर्फ ग्रेडिंग गलत दिए गए थे बल्कि जन्म तारीख भी गलत दर्शायी हुई हैं। कुछ को तो जन्‍म से पहले 10वीं पास करवा दिया गया। किसी की जन्‍मतिथि ऐसी दर्ज कर दी कि वह जन्‍म के 186 दिन बाद ही 10वीं की परीक्षा पास कर गया। अब सीबीएसई ने इसे ठीक करने का भरोसा दिया है।

ये गलतियां जन्म तिथि को लेकर हुई हैं. छात्रों का कहना है ऐसी लापरवाही की उम्मीद सीबीएसई से नहीं थी. कई छात्रों बताया, सीबीएसई के अनुसार, वे 2020 में पैदा हुए हैं और कुछ का जन्म 1 दिसंबर 2020 को होना वाला है.लगभग सभी छात्रों की जन्मतिथि मार्कशीट में गलत लिखी गई है. वहीं सीबीएसई की ओर से बयान आया है कि ‘सारी मार्कशीट ठीक की जा चुकी हैं.’बता दें,सीबीएसई ने 10वीं की मार्कशीट डिजीलॉकर पर अपलोड की हैं. वहीं मार्कशीट पर गलतियां होने के बाद सोशल मीडिया पर छात्र और अभिभावकों ने नाराजगी व्यक्त की है.

कैसे रहे 10वीं के रिजल्ट

CBSE 10वीं के नतीजे 15 जुलाई को घोषित किए गए थे. CBSE की वेबसाइट पर नतीजे देखे जा सकते हैं. रिजल्ट के मुताबिक कुल 91.46 फीसदी छात्र-छात्राएं पास हुए हैं. साथ ही छात्राओं को प्रतिशत 93.31 फीसदी और लड़कों का रिजल्ट 90.14 फीसदी रहा है. त्रिवेंद्रम, चेन्नई और बेंगलुरु टॉप थ्री जोन में शामिल हैं.

फरीदाबाद में एक निजी स्कूल के छात्र तेजस ने बताया कि उसकी जन्मतिथि के स्थान पर 9-1-20 अंकित है.। अर्थात उम्र के हिसाब से उसने 186 दिन की आयु में ही दसवीं की परीक्षा पास कर ली। यह मार्कशीट कहीं भी मान्य नहीं होगी।

सीबीएसई ने 10वीं कक्षा का जो परिणाम घोषित किया है उसमें बच्चों की मार्कशीट में खामियां देखने को मिल रही है। न्यू हैप्पी पब्लिक स्कूल यमुनानगर की प्रिंसिपल डा. बिंदू शर्मा ने बताया की बच्चों की जन्मतिथि में बोर्ड ने भारी गलतियां कर रखी हैं। स्कूल की छात्रा दीक्षा जैन की जन्म तिथि 19 जुलाई 2004 है परंतु मार्कशीट में इसे 19//0/7/20 दिखाया गया है।

इसके अलावा मार्कशीट में 87 नंबर पर  ग्रेड ए-टू, 86 पर बी-वन,75 पर बी-वन,81 पर ए-टू,69 पर सी-वन तथा 94 पर बी-वन ग्रेड दिया था। मार्कशीट में दर्शायी इन गलतियों से वे दिन भर परेशान रहे।

सिरसा में भी विद्यार्थियों द्वारा निकाले गए परिणाम में जन्मतिथि गलत पाई गई है। सिरसा के सतलुज पब्लिक स्कूल, डीएवी स्कूल, दि सिरसा स्कूल, केंद्रीय विद्यालय के विद्यार्थियों से बातचीत करने के बाद उन्होंने जन्मतिथि गलत होने की सूचना दी है। हालांकि कई विद्यार्थियों के परिणाम की जन्म तिथि 8 मई 2020 दी गई है तो कई विद्यार्थियों की नवंबर 20 की तिथि दी गई है जो अभी तक आई ही नहीं।

Spread the love