बिग ब्रेकिंग : शिक्षक घर-घर जाकर बांटेंगे बच्चों को राशन…. स्कूली बच्चों के लिए सूखा अनाज वितरण की प्रक्रिया बदली….डीपीआई ने सभी कलेक्टरों व डीईओ को जारी किया निर्देश……स्कूल बुलाने पर भीड़ बढ़ने की आशंका… जारी हुआ आदेश, पढ़िये

रायपुर 31 मार्च 2020। स्कूली बच्चों में मध्याह्न भोजन का सूखा राशन बांटने की प्रक्रिया में बड़ा बदलाव हुआ है। राज्य सरकार ने निर्देश दिया है कि पालकों को अब स्कूलों में बुलाकर नहीं, बल्कि बच्चों को घर-घर पहुंचाकर राशन दिया जायेगा। डीपीआई जितेंद्र शुक्ला ने इस बाबत आदेश भी जारी कर दिया है। आपको बता दें कि राज्य सरकार ने सभी स्कूलों को निर्देश दिया है कि 3 और 4 अप्रैल को स्कूली बच्चों को 40 दिन के मध्याह्न भोजन का सूखा राशन वितरित किया जाये।

सभी कलेक्टरों व जिला शिक्षा अधिकारी को जारी निर्देश में डीपीआई जितेंद्र शुक्ला ने तीन अलग-अलग बिंदुओं में आंशिक संशोधन का निर्देश दिया है। जारी निर्देश के मुताबिक लाकडाउन की स्थिति में स्कूलों में भीड़ बढ़ने की आशंका के मद्देनजर अनाज को बच्चों के घरों में जाकर वितरित किया जायेगा।

3 और 4 अप्रैल दो दिनों के लिए राज्य सरकार ने बच्चों को सूखा राशन वितरित करने का निर्देश दिया है, लेकिन अगर तय तारीख तक अनाज का वितरण नहीं हो पाता है तो उसे अगली तारीख तक बढ़ाया भी जा सकता है।

डीपीआई जितेंद्र शुक्ला ने निर्देश दिया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में अनाज वितरण के लिए जिला पंचायत सीईओ, शहरी इलाकों में वितरण के लिए निगम कमिश्नर और नगरीय क्षेत्रों में नगर पालिका अधिकारी के साथ समन्वय बनाकर कार्ययोजना तैयार किया जाये, ताकि वितरण प्रक्रिया में किसी भी नियम का उल्लंघन ना हो।

 

Spread the love