पूर्व मुख्यमंत्री पर बड़ा एक्शन : चुनाव आयोग ने पूर्व मुख्यमंत्री से स्टार प्रचारक का दर्जा छिना… जानिये किन बातों को लेकर आयोग ने की कार्रवाई

नयी दिल्ली 30 अक्टूबर 2020। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की मुश्किलें बढ़ गयी है। पहले इमरती देवी को आइटम कहना और फिर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को नौटंकी कलाकार कहना अब कमलनाथ के लिए भारी पड़ गया है। चुनाव आयोग ने पहले उन्हें नोटिस भेजा और बाद में उनकी ओर से मिले जवाब को संतोषजनक नहीं माना। अब उनका स्टार प्रचारक का दर्जा छीन लिया गया है, हालांकि वे चुनाव में प्रचार कर सकेंगे लेकिन इसका पूरा खर्च उम्मीदवार के खाते में जुड़ेगा। जानकारी के अनुसार यह आदेश शुक्रवार शाम 5 बजे से प्रभावी माना जाएगा।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से स्टार प्रचारक का दर्जा हट जाने के बाद अब यदि कमलनाथ अपने किसी भी प्रत्याशी के लिए प्रचार करने जाते हैं तो पूरा खर्च उस उम्मीदवार द्वारा वहन किया जाएगा, जिसके निर्वाचन क्षेत्र में प्रचार किया गया है. चुनाव आयोग ने शुक्रवार को ये जानकारी दी.

बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान एक विधायक को तय सीमा के अंदर खर्च करना होता है. हाल ही में विधानसभा चुनावों के लिए यह राशि 28 लाख रुपये से बढ़ाकर 30.8 लाख रुपये कर दी गई है. 20 लाख रुपये खर्च की सीमा वाले राज्यों में 22 लाख रुपये तक की बढ़ोतरी होगी.

Spread the love