npg
बड़ी खबर

बीबी ने आशिक के साथ मिलकर कराया पति का मर्डर….. पत्नी के कॉल डिटेल ने खोला पति की हत्या का राज, सामने आया चौंकाने वाला सच

मेरठ 18 नवंबर 2020। बीबी ने ही अपने आशिक के साथ मिलकर पति का कत्ल करा दिया। कोचिंग सेंटर संचालक के मर्डर मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। पति के मर्डर मामले में अब पत्नी और उसका आशिक पुलिस की गिरफ्त में है। मामला मेरठ के फलावदा का है, जहां करवा चौथ के ठीक एक […]

Spread the love

बीबी ने आशिक के साथ मिलकर कराया पति का मर्डर….. पत्नी के कॉल डिटेल ने खोला पति की हत्या का राज, सामने आया चौंकाने वाला सच
X

मेरठ 18 नवंबर 2020। बीबी ने ही अपने आशिक के साथ मिलकर पति का कत्ल करा दिया। कोचिंग सेंटर संचालक के मर्डर मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। पति के मर्डर मामले में अब पत्नी और उसका आशिक पुलिस की गिरफ्त में है। मामला मेरठ के फलावदा का है, जहां करवा चौथ के ठीक एक दिन पहले कोचिंग सेंटर संचालक सोनू गुर्जर को गोलियों से छलनी कर दिया गया था।

मवाना सीओ उदय प्रताप सिंह ने कहा कि बीते रविवार को एसओजी और फलावदा पुलिस ने धंजू गांव में शुभम को दबोच लिया. हालांकि परिजनों ने पुलिस से अभद्रता और हाथापाई कर उसे छुड़ा लिया था. इसके बाद कई थानों की फोर्स ने गांव पहुंचकर तलाश की. पुलिस का दबाव पड़ने पर परिजनों ने देर रात उसे सुपुर्द कर दिया.पुलिस का कहना है कि प्रेम संबंधों के चलते प​त्नी ने ही कोचिंग संचालक की हत्या कराई थी.

दौराला थाना क्षेत्र की सकौती के रहने वाले सोनू गुर्जर का मवाना में कोचिंग सेंटर है. तीन नवंबर को सोनू अपनी बाइक से कोचिंग के​ लिए जा रहे थे. रास्ते में फलावदा थाना क्षेत्र के गांव पिलौना के करीब बाइक सवार तीन हमलावरों ने सोनू पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी थी. घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस इस मामले की छानबीन में जुट गई. हत्या के कारण तलाशने के लिए पुलिस ने मृतक के परिवारीजनों से भी पूछताछ की.

कोचिंग संचालक सोनू गुर्जर के इस हत्याकांड को लेकर पुलिस के सामने बड़ा सवाल ये था, कि आखिर उसकी हत्या क्यों की गई और हत्या के पीछे का कारण क्या है. परिजनों के अनुसार उसकी किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं थी. पुलिस ने इस मामले में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ एफआईआर तो दर्ज कर ली, लेकिन ब्लाइंड मर्डर केस की गुत्थी सुलझाने में पुलिस के पसीने छूट गये.
पुलिस ने सोनू गुर्जर की पत्नी नेहा से पूछताछ की. नेहा द्वारा दिये गये बयानों से पुलिस को शक हुआ, जिसके बाद पुलिस ने नेहा की कॉल डिटेल खंगाली. कॉल डिटेल में पता चला कि नेहा की सबसे अधिक बात गांव धंजू के रहने वाले शुभम से होती है. इसके बाद परिजनों से शुभम के बारे में जानकारी की गई. शुभम का नाम आते ही मामले से पर्दा उठने लगा. पुलिस की मानें तो नेहा के शुभम के साथ संबंध थे, जिसके चलते उसने पति को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया. पुलिस के अनुसार शुभम ने अपने दोस्त रोहित व दलजीत के साथ​ मिलकर सोनू की हत्या कर दी. सीओ मवाना उदय प्रताप सिंह ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में नेहा के साथ शुभम और दलजीत को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि फरार आरोपी रोहित की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किये जा रहे हैं.
Next Story