एक्शन में भूपेश सरकार…! आईएएस, आईपीएस के बाद अब रायबरेली कनेक्शन वाले आईएफएस प्रणय मिश्रा की सरकार ने की छुट्टी, बलरामपुर से रायपुर बुलाए गए

NPG.NEWS
रायपुर, 14 जून 2020। छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले में मादा हाथियों की लगातार मौत के मामले में राज्य सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बलरामपुर के डीएफओ प्रणय मिश्रा की छुट्टी कर दी है। वहीं, एसडीओ फाॅरेस्ट एवं रेंजर को सस्पेंड कर दिया।
दरअसल हथिनी की मौत के पाँच दिन उसके मौत और शव की जानकारी वन अमले को मिली।यह गंभीर चुक वन अमले की थी, इस लापरवाही ने हाथियों को लेकर उनके विचरण समेत कई जानकारी के लगातार अपडेट होने के वन अमले के दावे प्रश्नांकित हो गए। जबकि वन अमले का दावा रहा है कि, वह सरगुजा वन वृत्त में हाथियों की उपस्थिति को प्रतिदिन मॉनीटर करता है।
राज्य सरकार ने बलरामपुर के डीएफ़ओ प्रणय मिश्रा को तो हटाया ही साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है और उसके साथ साथ राजपुर रेंज के एसडीओ के एस खूँटिया और रेंजर अनिल सिंह को सस्पेंड कर विभागीय जांच करने के निर्देश जारी किए हैं।
प्रणय मिश्रा वही आईएफएस हैं, जिन्हें सरकार ने राजनांदगांव का डीएफओ बनाया था। लेकिन, दिल्ली से आए सिफारिशी फोन के बाद वन विभाग ने दस दिन के भीतर उनका राजनांदगांव से बलरामपुर ट्रांसफर कर दिया था। प्रणय रायबरेली के रहने वाले हैं। बलरामपुर बड़ा फाॅरेस्ट डिवीजन तो है ही, बलरामपुर से यूपी का बार्डर लगता है। कभी भी वे यूपी आ-जा सकते थे। ऐसे में, उनका रायबरेली कनेक्शन काम आ गया।
मगर सरकार इन दिनों फुल एक्शन में चल रही है। कई आईएएस, आईपीएस अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। हाथियों की लगातार मौत और वन विभाग की लापरवाही ने आईएफएस प्रणय मिश्रा से सरकार को नाराज कर दिया। सरकार ने उन्हें डीएफओ से हटाकर वन मुख्यालय वापिस बुला लिया।

Spread the love