लॉकडाउन और कोरोना संकट काल के बीच…लोगों की मदद करने पहुँच जाते है ये दो थाना प्रभारी…

धमतरी 15 जून 2020. लॉकडाउन और कोरोना संकट काल के इस दौर में इस वायरस के संक्रमण पर रोकथाम के लिए हर कोई अपनी -अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभा रहे है. सरकार से लेकर प्रशासनिक अमला तक चाहे डॉक्टर्स हो या फिर पुलिस सभी कोरोना संक्रमण रोकथाम के लिए कोरोना वारियर्स के रूप में अलर्ट है… वहीँ पुलिस भी लॉकडाउन घोषणा होने से लेकर अब तक लगातार अपने-अपने थाना इलाके में पेट्रोलिंग कर और चेक पोस्ट पर तैनात होकर ….लोगों को लॉकडाउन के नियमोँ का पालन करने,मास्क लगाने,सेनीटाइजर यूज़ के साथ-साथ सोशल डिस्टेंस बनाये रखने और बिना किसी ठोस कारण के घर से बाहर ना निकलने घर पर रहकर सुरक्षित रहने के लिए हमेशा अपील कर समझाइश दिया जा रहा है…. जिसका असर भी देखने को मिला है…

थाना प्रभारी को अपने बीच पाकर गदगद हुए कमार जनजाति के बच्चे 

इसी बीच जिले के पुलिस सब डिवीजन नगरी के नगरी थाना प्रभारी एन.एस.ठाकुर और बोरई थाना प्रभारी एन.एस.मंडावी ने अपने कर्तब्य को जिम्मेदारी से निभाने के साथ -साथ…परेशानी से घिरे लोगों का हर संभव मदद कर रहे है…नगरी थाना प्रभारी ने अपने थाना इलाके के दूर दराज के वनांचल गांव गरियाबंद जिले के बोडर् चन्दनबाहरा, खुदुरपानी, भैंसामुड़ा समेत दर्जनों गॉव में पहुँचकर ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लिए जानकारी तो देते ही रहे है…साथ ही लॉकडाउन के दौरान ग्रामीणों में अपने निजी खर्चे से जरुरी लोगों में बिस्किट्स और अन्य सामान उपलब्ध करवाये ….जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिल सके जब फरसिया ग्राम ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम चन्दन बाहरा पहुँचे तो पहली बार किसी थाना प्रभारी को अपने बीच पाकर कमार जनजाति के लोग गदगद हो गए और उनसे बिस्किट पाकर बच्चों के चेहरे खिल उठे…साथ में फर्सीयाँ सरपंच सुषमा तारम भी मौजूद रही…

थाना प्रभारी को इस सराहनीय कार्य के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि और ग्रामीणों का लगातार सहयोग और सराहना मिलता रहा है…वहीँ उनका मानवता देख लोग गदगद हो गए…और बोले धन्यवाद साहब प्रभारी हो तो आपके जइसन…वहीँ बोरई थाना प्रभारी ने लोगों का सहयोग कर मानवता का मिशाल पेश किया है…बीते दिनों ओड़ीसा से यूपी के लिए पैदल जा रहे …युवकों को बोरई चेक पोस्ट पर हालचाल जानकर भोजन पानी की व्यवस्था कर उन्हें गाड़ी से आगे के लिए रवाना किया था…ठीक वैसे ही कल बीते शाम को ओड़ीसा के जयपुर से झारखंड जाने निकले तीन दिन पैदल चलकर बोरई पहुँचे 13 युवक का हालचाल जानकर उनके लिए चाय नास्ता का प्रबंध कर उन्हें पिकअप वाहन से रायपुर के लिए रवाना किया…जिसके लिए युवकों ने प्रभारी और टीम का धन्यवाद किया…पुलिसिंग के साथ साथ लोगोँ के सहयोग के लिए आगे रहकर मानवता का मिशाल पेश करने वाले ऐसे थाना प्रभारियों का लोगोँ ने और स्थानीय जनप्रतिनिधि ने खूब सराहना किया है…

Spread the love