बेंगलुरु के डॉक्टरों ने राज्य के 200 डॉक्टरों को कोरोना मरीजों के मानसिक तनाव निवारण के उपायों पर दिया ऑनलाईन प्रशिक्षण

रायपुर, 01 जुलाई 2020. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर आज डॉक्टर्स दिवस के अवसर पर मनोरोगों के विख्यात चिकित्सकीय संस्थान, निमहांस बेंगलुरू के डॉक्टरों द्वारा राज्य के मेडिकल एवं आयुर्वेदिक कॉलेज के युवा डॉक्टरों को कोरोना के मरीजों और क्वारेंटाईन में रहने वाले लोगों में मानसिक तनाव के निवारण के उपायों और चिकित्सकीय परामर्श पर वेब ट्रेनिंग दी गई। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम तीन चरणों में आयोजित किया जा रहा है। जिसके पहले चरण में निमहांस के विशेषज्ञ शामिल हुए।

राज्य के लगभग 200 युवा डॉक्टरांे ने Webex  के माध्यम से आॅनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति दर्ज की और प्रशिक्षण प्राप्त किया। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की विशेष पहल पर गठित कोरोना सहायता पटल पर सभी डॉक्टरों ने इस ट्रेनिंग में भागीदारी की एवं खुद को कोरोना कार्यकर्ता की तरह नामित किया। प्रशिक्षण में छत्तीसगढ़ कोरोना सहायता पटल के प्लेटफार्म पर यूनिसेफ (UNICEF), राज्य योजना आयोग, निमहांस (राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य एवं स्नायु विज्ञान संस्थान) के विशेषज्ञ सहित मेडिकल काॅलेज रायपुर एवं आयुर्वेदिक काॅलेज के विद्यार्थी शामिल हो रहे हैं।

पहले चरण के मुख्य ट्रेनर्स डॉ. शेखर शेषाद्री, निमहांस (NIMHANS) और डॉ. उषाकिरण अग्रवाल, शासकीय कला एवं वाणिज्य कन्या महाविद्यालय, रायपुर थे। दूसरे चरण की ट्रेनिंग डॉ. श्रीधर, यूनिसेफ (UNICEF) और डॉक्टर मंजीत कौर बल (समर्थ संस्थान) द्वारा दी जाएगी। तीसरे चरण में मेडिकल काॅलेज रायपुर के डाॅक्टर्स इस ट्रेनिंग को पूरा करेंगे। प्रशिक्षित युवा डॉक्टर कोरोना से संबंधित मरीजों की टेलीकाॅउंसलिंग (telecounselling) का कार्य करेंगे।

Spread the love