ज्योतिष और केंद्रीय ऐजेंसी और पुलिस ट्रबल शूटर ! पुलिस गाड़ियों के घेरे में 90 विधायक CM हाउस में..बैठक बारह बजे के बाद.. ग्रह नक्षत्र तब होंगे अनुकूल.. वहीं केंद्रीय एजेंसियों का ताबड़तोड़ छापा..

जयपुर,13 जुलाई 2020। राजस्थान की सियासत में पुलिस और केंद्रीय जाँच ऐजेंसीयों और ज्योतिष ट्रबल शूटर की भुमिका निबाह रहे हैं। मुख्यमंत्री निवास पर सुबह 10.30 पर होने वाली बैठक को दोपहर बारह बजे के बाद के लिए टाली गई है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी मंत्रियों ने मीडिया को इसकी वजह कुछ इन शब्दों में बताई है
“सूर्य बारह बजे के बाद अनुकूल हो जाएँगें.. इसलिए विधायक दल की बैठक बारह बजे के बाद होगी”

राजस्थान की सियासत में केवल ज्योतिष ही ट्रबल शूटर नहीं है, राज्य की पुलिस और केंद्रीय जाँच एजेंसियाँ भी ट्रबल शूटर की भुमिका निबाह रही हैं। CM निवास में विधायकों को पुलिस की बाड़ेबंदी में लाया जा रहा है। नज़ारा लोकतंत्र को कितना मज़बूत दिखाता है जबकि एक एक विधायक के वाहन के आगे पीछे दो राज्य पुलिस के अधिकारियों और जवानों से लैस गाड़ियाँ मौजुद हैं।

इसी राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पुत्र के व्यावसायिक साझेदार के साथ कुछ अन्य क़रीबियों पर केंद्रीय जाँच ऐजेंसीयों की दबिश पड़ी है। दिल्ली से केंद्रीय जाँच ऐजेंसीयों के अधिकारियों और अमले से भरी क़रीब सौ गाड़ियाँ राजस्थान में कई जगहों पर दबिश की कार्यवाही जा रही है।

दिल्ली आलाकमान से राजस्थान भेजे गए तीन सदस्यीय दल में एक रणदीप सुरजेवाला ने कहा
“जहां बर्तन हैं वहीं खड़कते हैं.. हम चाह रहे हैं कि सचिन पायलट से संवाद हो.. हमारा आग्रह है कि सचिन पायलट फ़ोन उठाएँ..लगातार प्रयास किए जा रहे हैं.. ऐसी कोई समस्या नहीं है कि जिसे सुलझाया ना जा सके।राहुल जी और सोनिया जी समस्या को सुलझा लेंगे.. सचिन पायलट का कोई अधिकृत बयान मैंने अब तक ऐसा नहीं देखा है कि, जिसमें वे चुनौती दे रहे हों”

हालाँकि रणदीप सूरजेवाला के बेहद नरम बयान के बीच एक मसला और हैं, वह यह है कि राजस्थान कांग्रेस भवन से सचिन पायलट की तस्वीरें और बैनर हटा दिया गया है।
वहीं सचिन पायलट की ओर से स्पष्ट किया है कि, वे इस बैठक में नहीं जा रहे हैं साथ ही उनके समर्थक विधायक उनके साथ हैं.. राजस्थान में सरकार अल्पमत में है”

Spread the love