comscore

गिरफ्तार वारंटी की ईलाज के दौरान हुई मौत ! …….. खून की कमी और लो ब्लड प्रेसर बनी मौत की वजह

कोरबा 30 जुलाई 2021। कोरबा में 6 साल से फरार चल रहे एक वारंटी की तबियत बिगड़ने पर अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो जाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार वारंटी का अचानक ब्लड प्रेशर लो होने के साथ ही खून में हिमोग्लोबिन की कमी होने के कारण उसकी तबियत पुलिस कस्टडी में बिगड़ने लगी थी, जिसकी जानकारी होते ही पुलिस जवानों ने उसे आनन-फानन में स्वास्थ केंद्र में भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गयी। पूरा घटनाक्रम करतला थाना का है।

बताया जा रहा है कि वनांचल ग्राम श्यांग में रहने वाले हंसाराम राठिया के खिलाफ करतला थाना में मारपीट का अपराध दर्ज था। वर्ष 2015 से हंसाराम राठिया फरार चल रहा था। जिसके बाद एसीजेएम कोर्ट कोरबा से आरोपी हंसाराम राठिया के विरूद्ध 8 दिसंबर 2020 को स्थानी वारंट जारी किया गया था। पुलिस पिछले 6 साल से फरार वारंटी की तलाश में जुटी हुई थी, तभी 29 जुलाई की रात पुलिस को फरार वारंटी हंसाराम के श्यांग में मौजूद होने की जानकारी मिली, जिसके बाद पुलिस टीम ने रात 11 बजें मौके पर दबिश देकर फरार वारंटी हंसाराम राठिया को गिरफ्तार कर करतला थाने लाया गया।

सुबह के वक़्त कोर्ट में पेश करने से पहले हंसाराम ने चक्कर आने और तबियत ठीक नही होने की जानकारी पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस जवानों ने तत्काल उसे करतला स्थित सामुदायिक स्वास्थ केंद्र ले जाया गया, जहां डॉक्टरी परीक्षण में हंसाराम का ब्लड प्रेशर लो होने के साथ ही खून में हिमोग्लोबिन की मात्रा 7 ग्राम होने की जानकारी डॉक्टरों ने दी। मेडिकल टीम बीमार हंसाराम का प्राथमिक ईलाज कर ही रहे थे, इस दौरान उसकी मौत हो गयी। इस पूरे मामले पर कोरबा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर ने एनपीजी से चर्चा में बताया कि गिरफ्तार वारंटी पिछले 6 साल से फरार चल रहा था।

न्यायालय से स्थायी वारंट जारी होने के बाद फरार वारंटी की गिरफ्तारी की गयी थी। सुबह के वक्त तबियत बिगड़ने की जानकारी मिलने के बाद हंसाराम को तत्काल करतला सामुदायिक स्वास्थ केंद्र में भर्ती कराया गया, जहां ईलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। एडिश्नल एस.पी.राठौर ने बताया कि इस पूरे प्रकरण में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के द्वारा जारी दिशा निर्देशों के मुताबिक शव का पंचनामा और पोस्टमार्टम की प्रक्रिया न्यायिक दंडाधिकारी और चिकित्सकों की टीम के द्वारा की जा रही है।

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!