…और ‘जान’ ‘शोना’ ‘बाबू’ ‘पुच्चू’ बनी लूटेरी दुल्हन हो गयी फरार …. दुल्हे के पैसे से शादी के लिए 10 लाख की शॉपिंग की, फिर कर लिया मोबाइल बंद….कहती थी- बस IAS बनने ही वाली हूं, फ्लाइट से आती थी डेटिंग पर…अब सर पीट रहा है दुल्हा

लखनऊ 18 जनवरी 2021। दुल्हे को कंगाल बनाकर लूटेरी दुल्हन फरार हो गयी। अब थाने-थाने घूमकर दुल्हा उस लड़की को ढूंढने की फरियाद कर रहा है। मामला लखनऊ का है…शिकायत के बाद पुलिस जब उस लूटेरी दुल्हन की तलाश में जुटी तो उसके सारे पते, आधार कार्ड और पहचान पत्र फर्जी निकले। अब ना तो दुल्हन का मोबाइल ऑन मिल रहा है और ना ही मौसी बनकर शादी फाइनल करने वाली महिला का मोबाइल चालू है। मेट्रोमोनियल साइट पर मिली युवती ने अपना परिचय बिहार की एक लड़की के रूप में दिया था। करीब छह महीने की चैटिंग और डेटिंग के बाद लड़की से पिछले महीने 16 दिसंबर को शादी फाइनल हुई थी। लेकिन शादी की शापिंग और पढ़ाई के नाम पर लड़की ने लड़के से करीब 10 लाख रुपये ठग लिये और फरार हो गयी। मनोज अग्रवाल नाम के युवक की  मेट्रोमोनियल वेबसाइट जीवन साथी डॉट कॉम के जरिए एक लड़की से जान-पहचान हुई थी जिसके बाद बात शादी तक पहुंची थी।

लुटेरी दुल्हन

लखनऊ के रहने वाले मनोज अग्रवाल ने शादी के लिए जीवन साथी डॉट कॉम पर अपनी प्रोफाइल बनाई थी। 15 अगस्त को उस पर प्रियंका सिंह की रिक्वेस्ट आयी। दोनों की बातचीत शुरू हुई। इस दौरान उसने युवक को आइएएस का पति बनने का लालच दिया। प्रियंका ने कहा कि उसने हाल में ही आयकर विभाग की नौकरी छोड़ी है, अब आइएएस की तैयारी कर रही है। जल्‍द ही तुम आइएएस के पति बनोगे। अपनी लच्छेदार बातों में प्रियंका ने मनोज को फंसा लिया। दोनों के बीच शादी की बात शुरू हो गई। घर वाले भी तैयार हो गए। दोनों ने नंबर का अदान-प्रदान किया और उनके बीच बातचीत और वाट्सएप चैटिंग शुरू हो गई।  मनोज के मुताबिक लड़की ने उसे बताया कि वो बिहार की रहने वाली है और उसके माता-पिता का देहांत हो चुका है. वो अपनी मौसी के साथ रहती है और दिल्ली में रह कर पढ़ाई करती है.

लुटेरी दुल्हन

कथित तौर पर मनोज के घरवालों और प्रियंका की मौसी ने बातचीत कर दोनों के रिश्ते को फाइनल कर दिया. इस दौरान युवती ने मनोज से यह भी कहा कि वह आईएएस (UPSC) की तैयारी कर रही है और जल्द ही उसका चयन भी हो जाएगा. मनोज के मुताबिक इसी बहाने युवती ने पैसा मांगना शुरू कर दिया. मनोज ने कहा कि युवती पढ़ाई के लिए  कभी 10 हजार कभी 20 हजार और 50 हजार रुपये मांगती रही और वो होने वाली पत्नी समझकर देता रहा. इस तरह युवक ने घर बनवाने के लिए जमा किए गए करीब 6 लाख रुपये उस लड़की को दे दिए.

लुटेरी दुल्हन

पिछले 6 महीने से दोनों में व्हाट्सएप चैटिंग चल रही थी और दोनों का मिलना जुलना भी होता था. इसी दौरान 16 दिसंबर को शादी की तारीख तय की गई. युवक इससे बेहद खुश हुआ और अपनी शादी की तैयारियों में जुट गया. फरार होने वाली युवती जब मनोज से मिलने लख़नऊ पहुंची तो उसके आने-जाने की फ़्लाइट का किराया भी मनोज ने ही दिया. यहां तक कि मनोज ने मॉल में उसे लगभग 2 लाख रुपये की शॉपिंग भी करवाई.

लुटेरी दुल्हन

इसके बाद कथित तौर पर आरोपी प्रियंका सिंह आखिरी बार हैदराबाद जाने की बात कह कर मनोज को चूना लगाकर फरार हो गई. युवती के गायब होने के बाद सिर्फ उसका ही नहीं बल्कि उसकी मौसी का फोन भी ऑफ आने लगा.  मनोज ने जब प्रियंका द्वारा दिए गए आधार कार्ड, पैन कार्ड और वोटर कार्ड की जांच की तो वो भी फर्जी निकला.

लुटेरी दुल्हन

जब पीड़ित आरोपी प्रियंका के दिए हुए पते पर बिहार और दिल्ली में जांच करने पहुंचा तो वो भी फर्जी निकला जिसके बाद पीड़ित को ठगी का अहसास हुआ. शादी से पहले ही प्रियंका नाम की युवती मनोज को लूट कर फरार हो चुकी थी. इसके बाद पीड़ित मनोज ने हज़रतगंज थाने में युवती के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है. अब पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

Spread the love