अजब लूट की गजब कहानी : खुद को ही लूटकर युवक मचाने लगा लूट-लूट का शोर…. पुलिस की सख्ती के बाद खोला मुंह और कहा… भाई का पैसा देख खराब हो गयी थी मेरी नियत

कोरबा 3 अक्टूबर 2020।…कुछ घंटे पहले तक जो युवक लूट की घटना पर छाती पीट रहा था, हकीकत में वहीं लूटेरा निकला। कोरबा में दिन दहाड़े हुई 95 हजार की लूट का राज जब 6 घंटे बाद खुला, तो पुलिस भी हैरान रह गयी। दरअसल जो युवक खुद को पीडित बताकर भाई के पैसे के लूट जाने का शोर मचा रहा था, पुलिस की सख्ती के बाद उसी ने कबूल किया कि लूटेरा कोई और नहीं बल्कि वो खुद ही है। दरअसल फ़र्ज़ी लूट की यह घटना आज सुबह 11:30 बजे कोतवाली थाना के मानिकपुर पुलिस चौकी क्षेत्र में सामने आई। 95 हज़ार रुपये और सोने की अंगूठी की लूट की जानकारी जैसे ही सामने आई कोरबा एस.पी.अभिषेक मीणा के निर्देश पर जिले में नाकेबंदी कर लूटेरो को पकड़ने में पुलिस टीम जुट गई थी।

कोरबा CSP राहुल देव और कोतवाली टी.आई.दुर्गेश शर्मा खुद मौके पर मामले की विवेचना करने पहुचे। लूट का शिकार बने अंकित केशरवानी से पूछताछ करने पर उसने बकायदा 95 हज़ार रुपये लूट की सुनियोजित कहानी पुलिस को बताई और घटना हक़ीक़त लगे इसके लिए उसने लुटेरों के द्वारा उसके पीठ पर हथियार टिकाने की भी जानकारी दी गई। लेकिन दिनदहाड़े हुए लूट के इस वारदात की कहानी पुलिस के गले नही उतरी और पुलिस टीम ने जब लूट का शिकार बने अंकित से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया । उसने बताया कि मौसेरे भाई के बताए पते से पैसा मिलने के बाद उसकी नियत बदल गई और उसने लूट की कहानी गढ़ दी।

पुलिस को गुमराह करने से पहले अंकित ने 95 हज़ार रुपये और अंगूठी घर मे जाकर छीपा दिए थे। जिसके बाद वापस लौटकर उसने खुद के साथ लूट की वारदात होने की जानकारी पुलिस को दी। लेकिन पुलिस आरोपी अंकित के झांसे में नही आ सकी और चंद घंटों में पुलिस ने प्रार्थी बने अंकित से उसका गुनाह कबूल करवा लिया। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर 95 हज़ार रुपये बरामद कर जप्त कर लूट के इस फ़र्ज़ी मामले को 6 घंटे के भीतर सुलझाने में सफलता हासिल की है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.