मरवाही वनमंडल का कमाल, बीज विकास निगम का 13 लाख रुपिया डिप्टी डायरेक्टर कृषि को भेज दिया, निगम के अधिकारी चार महीने से डीएफओ आफिस से कर रहे पत्राचार

बिलासपुर, 26 जून 2020। मरवाही वन मंडल ने लापरवाही की पराकाष्ठा करते हुए बीज विकास निगम का 13 लाख रुपए का भुगतान डिप्टी डायरेक्टर कृषि के खाते में कर दिया। निगम के अधिकारी पिछले चार महीने से पत्राचार कर रहे हैं। मगर कोई सुनवाई नहीं हो रही।
बताते हैं, बीज विकास निगम ने वेंडर के जरिये मरवाही वन मंडल को कीटनाशक की सप्लाई किया था। कीटनाशक की सप्लाई के बाद जब पेमेंट का समय आया तो वहां के डीएफओ बदल गए। इसी के बाद मामला गड़बड़ा गया।
बीज विकास निगम के कई पत्र और वेंडर के चक्कर काटने के बाद डीएफओ आफिस ने कीटनाशक का पेमेंट तो किया मगर उसे बीज विकास निगम के जिला प्रबंधक की बजाए उप संचालक कृषि के खाते में ट्रांसफर कर दिया। पिछले चार महीने से वह राशि उप संचालक के सरकारी खाते में पड़ी हुई ह। निगम के अफसरों का कहना है कि वन विभाग द्वारा पेमेंट वापसी के लिए गंभीरता पूर्वक प्रयास नहीं किया जा रहा। वरना, 13 लाख रुपए कृषि विभाग के उप संचालक के खाते में नहीं पड़ रहता।
पिछले दिनों निगम ने डीएफओ आफिस को लेटर लिखा तो वहां से उप संचालक कृषि को पैसे वापिस भेजने के लिए लिखा है। इस लापरवाही और पेमेंट में टालमटोल पर जब मरवाही डीएफओ राजेश मिश्रा से बात की गई तो उन्होंने यह कहते हुए पूरे प्रकरण से पल्ला झाड़ लिया कि उन्हें इस बारे में कुछ पता नहीं है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.