npg

पति-पत्नी का कमाल: सीएसपी पत्नी ने दी जेलर पति को मात, पीएससी मेरिट में दूसरे नम्बर पर पत्नी आई और पति तीसरे स्थान पर, पुलिस अधिकारी के बेटा-बहू दोनों बनेंगे डिप्टी कलेक्टर

रायपुर, 17 सितंबर 2021। आज जारी हुए पीएससी के रिजल्ट में एक एसा परिवार है, जिसके बेटे व बहू दोनां अब डिप्टी कलेक्टर बनेंगे। अब तक इस परिवार से कई पुलिस अफसर थे और सलेक्ट होने वाली बहू भी खुद ही डीएसपी के पद पर है। पीएससी में दूसरा स्थान बनाने वाली सृष्टि चन्द्राकर और […]

Spread the love

पति-पत्नी का कमाल: सीएसपी पत्नी ने दी जेलर पति को मात, पीएससी मेरिट में दूसरे नम्बर पर पत्नी आई और पति तीसरे स्थान पर, पुलिस अधिकारी के बेटा-बहू दोनों बनेंगे डिप्टी कलेक्टर
X

रायपुर, 17 सितंबर 2021। आज जारी हुए पीएससी के रिजल्ट में एक एसा परिवार है, जिसके बेटे व बहू दोनां अब डिप्टी कलेक्टर बनेंगे। अब तक इस परिवार से कई पुलिस अफसर थे और सलेक्ट होने वाली बहू भी खुद ही डीएसपी के पद पर है।

पीएससी में दूसरा स्थान बनाने वाली सृष्टि चन्द्राकर और तीसरा स्थान पाने वाले सोनाल डेविड दोनो पति पत्नी हैं। वर्तमान में सृष्टि चन्द्राकर बिलासपुर जिले में चकरभाठा पुलिस सब डिवीजन में सीएसपी का पद भार सम्हाल रहीं हैं, तो वही उनके पति सोनाल डेविड बिलासपुर सेंट्रल जेल में सहायक जेल अधीक्षक के पद पर पदस्थ हैं। सोनाल का पूरा परिवार पुलिस विभाग में है, उनके बड़े पिताजी सुशील डेविड अत्तिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीएम सिक्योरिटी में है तो वही सोनाल के पिता सुनील डेविड 30 जून को चकरभाठा सीएसपी बिलासपुर से रिटायर हुए हैं। उनकी जगह अब उनकी बहू सृष्टि चन्द्राकर सीएसपी का पदभार सम्हाल रहीं हैं।

खास बात यह हैं कि वो सीएसपी चकरभाठा के साथ ही अजाक डीएसपी के चार्ज में ही हैं, और जिले में सबसे ज्यादा थाने (6 थाने) उनके सुपरविजन में है। दोनो पति पत्नी मिल कर पीएससी की तैयारी कर रहे थे। पति सोनाल का कहना था कि पूरे परिवार में एक पीढ़ी पुलिस अधिकारी थे तो अब हमें प्रशासनिक अधिकारी बनना है, जो अब जा कर पूरा हुआ। सोनाल यूपीएससी की तैयारी करने दिल्ली भी गए थे। सृष्टि चन्द्राकर ने पीएससी 2019 में टॉप टेन में जगह बनाने के अलावा जुलाई में होने वाली पीएससी मेंस की परीक्षा भी दिलाई हैं।

सोनाल 2015 पीएससी से बने थे सहायक जेल अधीक्षक,2017 में सहायक अधीक्षक भू अभिलेख में चयन हुआ पर जॉइन नही किया। अब डिप्टी कलेक्टर बन गए। वहीं, सृष्टि ने इंजीनियरिंग करने के बाद 2012 में पहला इंटरव्यू दिया,2015में सहायक जेल अधीक्षक 2016 पीएससी से बनी डीएसपी और अब डिप्टी कलेक्टर।

Next Story