दूसरे राज्यों से लौटे ग्रामीणों को होम-आइसोलेशन में रहने की सलाह… बुखार, खांसी या सांस लेने में तकलीफ होने पर तत्काल अस्पताल जाएं, कलेक्टरों और सीईओ को परिपत्र जारी

रायपुर. 24 मार्च 2020. पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने दूसरे राज्यों से लौटे ग्रामीणों की सेहत की सुरक्षा के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। विभाग ने सभी जिलों के कलेक्टरों और जिला पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को परिपत्र जारी कर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने एवं प्रवास से लौटे लोगों की सुरक्षा के लिए आवश्यक सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं।

विभाग के प्रमुख सचिव गौरव द्विवेदी ने परिपत्र जारी कर कोरोना संक्रमण के खतरे से निपटने अन्य राज्यों से लौटकर गांव आ रहे लोगों पर विशेष ध्यान रखने कहा है। उन्होंने लौटने वाले ग्रामीणों का किसी भी तरह का विरोध रोकने ग्राम पंचायतों के माध्यम से आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही बाहर से लौटे लोगों को मितानिनों के माध्यम से परामर्श उपलब्ध कराने कहा है।

विभाग ने प्रवास से लौटने वालों को 14 दिनों तक अपने घर में ही रहने और इस दौरान अन्य ग्रामीणों से नहीं मिलने की सलाह दी है। वे घर में पूरे समय परिवार के लोगों से एक मीटर की दूरी बनाएं रखें। यदि उन्हें बुखार, सूखी खांसी या सांस लेने में दिक्कत आए तो नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचकर जांच कराएं। घर पर बार-बार साबुन और पानी से हाथ धोते रहें। खांसने और छींकने के लिए रूमाल का उपयोग करें। रूमाल को नियमित रूप से धोकर ही उपयोग करें। बाहर से लौटे लोगों को सलाह देते समय मितानिनों को उनसे दो मीटर की दूरी रखने कहा गया है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने सभी कलेक्टरों और सीईओ को इन निर्देशों और सलाहों का पालन सुनिश्चित करने ग्राम पंचायतों एवं ग्राम सचिवों को निर्देशित करने कहा है।

Spread the love